https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

पटना: बिहार को फिल्म शूटिंग का केंद्र बनाने के लिए राज्य सरकार कई तरह के प्रयास कर रही है. यहां बड़े स्तर पर फिल्मों की शूटिंग हो इसके लिए राजगीर, नालंदा, कैमूर, बांका, वाल्मीकिनगर के खूबसूरत लोकेशन को चयनित कर उसे और भी खूबसूरत तरीके से बनाने की दिशा में प्रयास किया जा रहा. बिहार के राजगीर में फिल्म सिटी बनाने का कार्य तेजी से हो रहा. इसके लिए प्रखंड ठेरा, मोरा व पिलखी गांव में लगभग 360 एकड़ भूमि का अधिग्रहण हो चुका है. वहीं 20 नवंबर से आयोजित गोवा फिल्म फेस्टिवल में भी बिहार कला, संस्कृति विभाग हिस्सा लेने जा रहा है.

राजगीर में बनेगी फिल्म सिटी

राजगीर में फिल्म सिटी बनाने की तैयारी है. बिहार सरकार फिल्म प्रोडक्शन से संबंधित गतिविधियां और बड़ी बड़ी फिल्मों की शूटिंग के लिए तमाम सुविधाएं उपलब्ध होने वाली फिल्म सिटी के निर्माण की दिशा में कार्रयरत है. इसके लिए राजगीर के प्रखंड ठेरा, मोरा व पिलखी गांव में लगभग 360 एकड़ भूमि का अधिग्रहण हो चुका है. बताया गया कि 20 एकड़ में इसका निर्माण होगा. इसमें डेढ़ सौ करोड़ खर्च होने की संभावना है.

बिहार कला, संस्कृति विभाग गोवा में आयोजित फिल्म बाजार में लगाएगा प्रदर्शनी

बता दें कि पांच दिन बाद गोवा में 20 नवंबर से भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का आयोजन है. इसमें बिहार कला, संस्कृति विभाग अपनी प्रदर्शनी लगाने जा रहा है. गोवा फिल्म फेस्टिवल 2022 में बिहार अपना खुद का मंडप लगाएगा. इसके जरिए घरेलू व विदेशी फिल्म निर्माताओं को आकर्षित करने की कोशिश की जाएगी. बिहार राज्य फिल्म विकास एवं वित्त निगम लिमिटेड की प्रबंध निदेशक और कला एवं संस्कृति विभाग की सचिव बंदना प्रियाशी ने पहले ही कहा था कि वह बिहार में फिल्म निर्माण को बढ़ावा देना चाहती हैं. इसमें विभाग बिहार के विशेष स्थलों के बारे में बताएगा और फिल्म निर्माण के लिए चर्चा करेगा.

फिल्मों की शूटिंग के लिए प्रोतसाहित सिंगल विंडों सिस्टम का प्रावधान इज ऑफ डूइंग बिजनेस के तहत किया जा रहा. इसमें विभाग बिहार में फिल्मों की शूटिंग हो इसके लिए वहां निर्माता निर्देशकों को प्रोत्साहित करेंगे. वहीं इसके लिए क्षेत्र में एजेंसियां भी हायर होंगी जिसको चुनने के लिए विभाग ने निविदा बुलाई है. इसके लिए आठ नवंबर को ही बिहार स्टेट फिल्म डेवलेपमेंट एंड फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड की प्रबंध निदेशक बंदना प्रियाशी ने सूचना एवं जनसंपर्क विभाग बिहार सरकार से परमिशन मांगी गई है.

कला, संस्कृति और युवा विभाग को जिम्मेदारी

फिल्म विकास के लिए राज्य सरकार ने पर्यटन विभाग से जिम्मेदारी लेते हुए कला, संस्कृति और युवा विभाग को दी है. विभाग ने इसके लिए फिल्म विकास निगम को नोडल एजेंसी बनाया है. इसमें कोई भी इच्छुक निर्माता निर्देशक विकास निगम की निर्धारित वेबसाइट पर फी जमा करके आवेदन कर सकते हैं. इस वेबसाइट पर साइट की तमाम सूची उपलब्ध की गई है. साथ ही साइड कलाकारों के लिए टैकसी से लेकर कई सुविधा मुहैया कराने की बात कही गई है.

बिहार के खूबसूरत लोकेशन

राजगीर में फिल्म सिटी बनेगा. साथ ही कैमूर के मुंडेश्वरी मंदिर, मंझार कुंड व धुआं कुंड जलप्रपात समेत कई जगह चयनित हैं. इसके अलावा नालंदा के ऐतिहासित स्थल नेचर सफारी, ग्लास ब्रिज, बांका में मंदार पर्वत, पश्चिमी चंपारण में वाल्मीकि टाइगर रिजर्व भी शामिल होंगे. इन जगहों के अलावों बिहार के कई खूबसूरत लोकेशन को चिह्नित किया गया है जहां शूटिंग हो सके.

Source : abp news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *