https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

अक्सर प्रेम में पड़े लोग अपने प्रेमी या प्रेमिका की खातिर असंभव से असंभव जान पड़ने वाले करतब कर गुजरते हैं। जमीन पर बैठ कर चांद तोहफे में देने और तारे तोड़ लाने की बातें करते हैं, लेकिन प्यार से जो भी दिया जाए, उसे नीलम समझ सहेज कर रखते हैं। ”प्रेमिका ने प्यार से जो भी दे दिया, तेरे वास्ते है नीलम जैसा। प्रेमिका ने प्यार से जो भी छू लिया, तेरे वास्ते है सोने जैसा…!!” 1994 में रिजील एलबम ‘हम से है मुकाबला’ का यह गाना इस बात की गवाही देता है। लेकिन इस महामारी के दौर में मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के एक प्रेमी जोड़े की कारगुजारी जान हर कोई हैरान रह गया।

दरअसल, प्रेम में नहीं लालच में पागल एक नर्स मरीजों को नॉर्मल इंजेक्शन लगाकर रेमडेसिविर चुरा लेती थी और उन इंजेक्शन को अपने प्रेमी को दे देती थी। प्रेमी इन इंजेक्शन को लेकर जाकर कालाबाजारी करता था। जब इस मामले का खुलासा हुआ, तो पुलिस भी हैरान रह गई। पुलिस ने प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन उसकी क्राइम पार्टनर नर्स अभी भी फरार है।

ऐसे हुआ खुलासा
भोपाल के जेके अस्पताल की नर्स शालिनी वर्मा यहां मरीजों की जान से खिलवाड़ कर रही थी, वो मरीजों को असली रेमडेसिविर इंजेक्शन न लगाकर नॉर्मल इंजेक्शन लगा रही थी। दरअसल, कोलार पुलिस को सूचना मिली थी कि एक लड़का रेमडेसिविर ब्लैक में बेच रहा है। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने आरोपी को पकड़ लिया। आरोपी गिरधर कॉम्प्लेक्स, दानिशकुंज निवासी झलकन सिंह की गिरफ्तारी के बाद इस पूरे मामले का खुलासा हुआ, जिसके बाद हड़कंप मच गया।
आरोपी 20 से 30 हजार रुपये में बेचता था इंजेक्शन पुलिस के मुताबिक, झलकन सिंह से पूछा कि तुम्हे यह रेमडेसिविर कहां से मिलता है, तो उसने बताया कि यह इंजेक्शन उसे उसकी प्रेमिका शालिनी वर्मा देती है, जो जेके अस्पताल में नर्स के तौर पर सेवाएं दे रही है। शालिनी मरीजों को लगाने के लिए दिए जाने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन को चुराकर झलकन को देती थी और उसका प्रेमी इस इंजेक्शन को 20 से 30 हजार रुपये में बेचता था। फिलहाल पुलिस झलकन की प्रेमिका शालिनी की पीछे पड़ी है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

आरोपियों पर लगेगी रासुका
पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 389, 269, 270 सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है। उसकी प्रेमिका आरोपी शालिनी वर्मा की तलाश की जा रही है। इस मामले में डीआईजी इरशाद वली ने कहा कि शहर में जगह-जगह तलाशी ली जा रही है, ऐसे सभी आरोपियों पर रासुका यानी राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (NSA) लगाई जाएगी।

इनपुट : अमर उजाला

9 thoughts on “अजब : प्रेमिका ने प्यार से दिए चोरी किए हुए रेमडेसिविर इंजेक्शन, प्रेमी ने की कालाबाज़ारी, अब पीछे पड़ी पुलिस”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *