https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

बिहार के लोग इस समय दोहरी परेशानी को झेल रहे है. एक तरफ जँहा कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से सामने आ रहे है. वही दूसरी तरफ नदी के पानी मे उफान आने से बाढ़ की त्रासदी भी झेल रहे है. अब एक और मुसीबत सामने आ गयी है. बिहार के कई जिलों में बाढ़ का तांडव जारी है. बाढ़ का पानी दरभंगा में स्तिथ नेशनल पावर ग्रिड में घुस गया है. जिसके कारण करीब 12 जिलों में बिजली आपूर्ति बाधित हो गई है. नेशनल पावर ग्रिड बहादुरपुर प्रखंड के देकुली गांव स्थित है. इसका संचालन दरभंगा-मोतिहारी ट्रांसमिशन कंपनी नाम से होता है.

ग्रिड में पानी भर जाने से दरभंगा, मुजफ्फरपुर, लोकही, मोतीपुर और समस्तीपुर पावर ग्रिड में 400 केवीए पावर सप्लाइ पूरी तरह ठप हो गयी है. बिजली आपूर्ति ठप होने से दरभंगा, सारण, गोपालगंज, पूर्वी चंपारण, सीवान, पश्चिमी चंपारण, समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, सीतामढ़ी, शिवहर और मधुबनी जिलों में बिजली आपूर्ति बाधित हो गयी है. आपको बता दे भूटान से किशनगंज होते हुए दरभंगा पावर ग्रिड में बिजली पहुंचती है. यहां से 220 केवी के करीब आधा दर्जन ग्रिड को बिजली आपूर्ति की जाती है. 22 जुलाई से पावर ग्रिड में पानी घुसना शुरू हो गया था. वर्तमान में ग्रिड में करीब चार फुट पानी लगा है. पानी का बढ़ना लगातार जारी है. अधिकतर मशीन पानी में डूब चुकी है.

तकनीकी जानकारों के अनुसार पानी उतर जाने के बाद भी ग्रिड को री-स्टोर करने में कम से कम तीन महीने का समय लग सकता है. स्टेशन इंचार्ज निशांत कुमार ने बताया कि पानी काफी बढ़ जाने के कारण पावर सप्लाइ बंद कर दी गयी है. सामान्य दिनों में यहां से 960 मेगावाट बिजली की सप्लाइ ग्रिडों में की जाती है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *