अब प्रधानध्याक होंगे पंचायतो के ˈक्‍वॉरन्‌टीन्‌ सेंटर्स के नोडल ऑफिसर, रोजाना आना होगा शिक्षको को

1 0
Read Time:5 Minute, 10 Second

मुजफ्फरपुर, जिलाधिकारी डॉ० चंद्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से प्रखंड स्तर एवं पंचायत स्तर पर संचालित ˈक्‍वॉरन्‌टीन्‌ सेंटर्स के अद्यतन क्रियान्वयन स्थिति की समीक्षा की गई एवं आवश्यक दिशा- निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा की जिला में आने वाले प्रवासी श्रमिको की संख्या में वृद्धि होने के कारण प्रखंड/पंचायत स्तर पर ˈक्‍वॉरन्‌टीन्‌ सेंटर्स की संख्या में वृद्धि की गई है। वर्तमान परिस्थिति के दृष्टिगत पंचायत स्तरीय सभी स्कूलों को क्वॉरेंटाइन केंद्रों के रूप में चिन्हित कर उनका उपयोग किया जाएगा, जिसके समुचित प्रबंधन हेतु संबंधित विद्यालय के प्राचार्य के नेतृत्व में स्कूल प्रबंधन जवाबदेह होंगे। निर्देश दिया गया कि सभी स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य रूप से सुनिश्चित की जाएगी। इस आशय का निर्देश उन्होंने जिला शिक्षा पदाधिकारी को दिया । सभी क्वॉरेंटाइन केंद्रो पर आपदा प्रबंधन द्वारा निर्गत निर्देशो के अनुरूप भोजन/नाश्ता एवम् अन्य सुविधाएं देना है।

साथ ही उन्होंने बताया की क्वॉरेंटाइन केंद्रो के पर्यवेक्षण, अनुश्रवण/दी जा रही सुविधाओं के समीक्षा हेतु जिला स्तर से पदाधिकारियों कि प्रतिनियुक्ति की गई है। प्रखण्डो के वरीय प्रभारी पदाधिकारी डीएम के निर्देश के आलोक में अपने-अपने प्रखण्डो मे कैम्प किये हुए हैं। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित समीक्षात्मक बैठक में सभी संबंधित पदाधिकारियों को प्रतिदिन क्वॉरेंटाइन केंद्रों के समेकित निरीक्षण एवं आवासित व्यक्तियों से वार्तालाप करने एवं यथासंभव उनके समस्याओं के यथोचित निवारण का निर्देश दिया गया है। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को ˈक्‍वॉरन्‌टीन्‌ सेंटर्स में आवासित व्यक्तियों का आधार नंबर संबंधित समेकित आंकड़ा अविलंब उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है, ताकि विहित प्रावधानों के अनुरूप उन्हें अनु मान्य लाभ दिया जा सके। जिलाधिकारी द्वारा प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों एवं वरीय पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि  प्रखंड स्तर पर  वाहन कोषांग की समीक्षा कर लें, डेटा मैनेजमेंट कोषांग,सामग्री कोषांग आदि का तत्काल गठन कर लिया जाय। प्रखंडों को सुपर जोनल, जोनल एवं सेक्टर में विभाजित करते हुए, तदनुसार निरीक्षण एवं अनुश्रवण का कार्य गंभीरता पूर्वक करना सुनिश्चित करें। 14 दिन के बाद क्वॉरेंटाइन केंद्रों से जाने वाले प्रवासियों का पूर्ण विवरण उनके जाने के पूर्व ही दर्ज कर लें। यह कार्य अचूक रूप से करना सुनिश्चित करें। आने वाले प्रवासी श्रमिकों का निबंधन का कार्य समानांतर रूप से करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी महोदय ने नवीन वायरस जनित संक्रमण के कारण उत्पन्न आपातकालीन परिस्थिति से निपटने में सभी संलग्न पदाधिकारी/स्वास्थ्य कर्मी (Corona fighters) द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना भी की एवं इसी प्रकार धैर्य पूर्वक निर्धारित कार्यों के सम्यक निर्वहन का निर्देश भी दिया गया। बैठक में उप विकास आयुक्त उज्जवल कुमार सिंह, सहायक समाहर्ता खुशबू गुप्ता , दोनों अनुमंडल पदाधिकारी ,जिला आपूर्ति पदाधिकारी  महमूद आलम,  जिला सूचना एवं विज्ञान पदाधिकारी  नवीन कुमार सुमन ,जिला जनसंपर्क अधिकारी कमल सिंह के साथ सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे l

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

92 thoughts on “अब प्रधानध्याक होंगे पंचायतो के ˈक्‍वॉरन्‌टीन्‌ सेंटर्स के नोडल ऑफिसर, रोजाना आना होगा शिक्षको को

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: