https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

मुजफ्फरपुर, जलजमाव के कारण शहर के दो दर्जन से अधिक गली-मुहल्लों में त्राहिमाम की स्थिति है। मुहल्लावासी जलजमाव की पीड़ा से मुक्ति के लिए शासन-प्रशासन से गुहार लगा रहे हैं, लेकिन उनकी पीड़ा सुनने वाला कोई नहीं। मंगलवार को बारिश नहीं होने से मुख्य सड़कों एवं बाजार से पानी निकल गया लेकिन वहां नारकीय हालात बरकरार है। कीचड़ एवं गंदगी के कारण लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो रहा है। दूसरी ओर स्लूस गेट बंद होने से शहर के उत्तरी भाग का पानी शहर से बाहर नहीं निकल पा रहा है। सोमवार को हुई बारिश ने स्थिति को और खराब कर दिया। सिकंदरपुर प्रभात जर्दा फैक्ट्री रोड में सड़क पर तीन फीट पानी लगा हुआ है।

लोगों के घरों में भी बारिश का पानी प्रवेश कर गया है। तीन दर्जन से अधिक परिवार अपने घरों में कैद है। हालांकि नगर निगम स्लूस गेट के पास उच्च क्षमता का पंपिंग सेट चलाकर पानी निकालने का प्रयास कर रहा है लेकिन बार-बार बारिश होने से पंपिंग सेट जलजमाव को रोकने में नाकाफी साबित हो रहे हैं। यही हाल कमरा मुहल्ला, पानीकल चौक एवं सोढ़ा गोदाम चौक स्लूस गेट के पास के इलाके का है। जलजमाव से अमरूद बगान, रज्जू साह लेन, डा. रामचंद्र पूर्वे गली, दास कॉलोनी, शंकर नगर, विश्वविद्यालय प्रेस गली, स्कूल रोड, गोला बांध रोड, बालूघाट रोड, ज्ञान लोक स्कूल गली, ब्रह्मपुरा मध्य विद्यालय गली के अलावा चर्च रोड एवं क्लब रोड की सभी गली-मुहल्लों की स्थिति बहुत खराब है। इन मुहल्लों में बीते एक माह से बारिश का पानी जमा है। इन मुहल्लों में नाला रहने के बाद भी जमा पानी नहीं निकल रहा है। अमरूद बगान निवासी संजय कुमार सिंह ने कहा कि एक माह से पचास से अधिक परिवार नारकीय जीवन जी रहा है। उनकी सुध लेने वाला कोई नहीं नहीं। माड़ीपुर के स्कूल रोड निवासी पंकज महतो ने कहा कि मुहल्ला बारिश के पानी में डूबा हुआ है। लोग घरों से नहीं निकल पा रहे हैं। नगर निगम सिर्फ बड़ी-बड़ी बात करता है। समस्या का समाधान कोई नहीं कर रहा है।

जमा पानी निकाले में अक्षम साबित हो रहा निगम

शहर को जलजमाव से मुक्ति दिलाने का जिम्मा नगर निगम का है, लेकिन निगम शहर से जलजमाव दूर करने में अक्षम साबित हो रहा है। जमा पानी निकालने के नाम पर निगम के कर्मचारी सिर्फ नाला में लाठी पीट रहे हैं। सफाई के बावजूद बिना आउटलेट के बने नालों से पानी का बहाव नहीं हो पा रहा। निगम की नाकामी से जलजमाव की पीड़ा झेल रहे लोगों में भारी आक्रोश है। वे निगम अधिकारियों के साथ-साथ अपने-अपने इलाके जनप्रतिनिधियों को जमकर कोस रहे हैं। अगले साल होने वाले निकास चुनाव में उनको सबक सिखाने की बात कह रहे हैं। लोग नगर विधायक से भी नाराज हैं। उनका कहना है कि पिछले साल जलजमाव होने पर धरना-प्रदर्शन करने वाले नगर विधायक अब क्या कर रहे हैं।

इनपुट : जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *