बिहार मे बम फोड़ने वाली सरकार चाहिए की नारियल फोड़ने वाली : गिरिराज सिंह

0 0
Read Time:2 Minute, 27 Second

गोपालगंज : बिहार का चुनाव काफी महत्वपूर्ण चुनाव है। इसके कई मायने भी है। बिहार में महागठबंधन जो बना है, वह केवल बम व बारूद की बात करता है। बिहार की जनता को यह करना है कि उसे बम फोड़ने वाली महागठबंधन की सरकार चाहिए कि नारियल फोड़ने वाली एनडीए की सरकार। बिहार व देश में एनडीए ने केवल विकास का कार्य किया है। ये बातें शहर के बंजारी स्थित एक होटल में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री गिरीराज सिंह ने कहीं। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को राजनीति विरासत में मिली है। राजनीति विरासत में मिलने के बाद उन्होंने पोस्टर से अपने माता-पिता का फोटो हटा दिया। इससे जनता का मूड बदलने वाला नहीं है। जनता जानती है कि लालू यादव को पोस्टर से हटाने से नहीं होगा।

क्योंकि सरकार बनी तो फिर से बिहार में जो 15 साल पूर्व होता था, वह फिर से शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार ने बिहार में विकास की खाई को भरने का कार्य किया है। अब बिहार में विकास तेज गति से शुरू हो गया है। आने वाले पांच साल काफी महत्वपूर्ण है।

उन्होंने कहा कि चिराग पासवान पर निशाना साधते हुए कहा कि जो खुद को मोदी का हनुमान बता रहे हैं, वे बताए कि वह कौन से हनुमान हैं। चिराग पासवान ने कभी भी राजद व कांग्रेस पर हमला नहीं बोला। ऐसे में उनकी चुप्पी के कई मायने भी है। बिहार में कोई भ्रम नहीं है। बिहार में चार दलों का अटूट गठबंधन है। उन्होंने बैकुंठपुर विधानसभा सीट का नाम लेते हुए कहा कि वहां कुछ वोटकटवा भी मैदान में उतर कर लोगों को भ्रमित कर रहे है।

इनपुट : जागरण

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

14 thoughts on “बिहार मे बम फोड़ने वाली सरकार चाहिए की नारियल फोड़ने वाली : गिरिराज सिंह

  1. I do agree with all of the ideas you’ve offered on your post. They’re really convincing and can definitely work. Still, the posts are very short for beginners. May just you please lengthen them a little from subsequent time? Thank you for the post.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: