https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

आदित्य बिड़ला ग्रुप (Aditya Birla Group) के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला (Kumar Mangalam Birla) ने वोडाफोन आइडिया लिमिटेड (Vodafone Idea Limited) के नॉन-एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर और नॉन-एग्जिक्यूटिव चेयरमैन के पद से इस्तीफा दे दिया है। जिसे बुधवार को कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने स्वीकार कर लिया है। कुमार मंगलम बिड़ला की जगह कंपनी ने हिमांशु कपानिया को नया नॉन-एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर और नॉन-एग्जिक्यूटिव चेयरमैन नियुक्त किया है। बता दें, जून में कुमार मंगलम बिड़ला ने कैबिनेट सचिव को पत्र लिखकर वोडाफोन और आइडिया में अपनी हिस्सेदारी को सरकारी या फाइनेंशियल कंपनी को सौंपने की बात कही थी।

इस फैसले पर कंपनी ने क्या कहा

कुमार मंगलम बिड़ला का इस्तीफा स्वीकार करने के बाद कंपनी की तरफ से बयान जारी करते हुए कहा गया, ‘आइडिया वोडाफोन लिमिटेड के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने कुमार मंगलम बिड़ला का गैर कार्यकारी निदेशक और गैर कार्यकारी चेयरमैन के पद से दिया इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है।’

घाटे में चल रही है कंपनी

कुमार मंगलम बिड़ला के पत्र लिखने के बाद कंपनी को 2700 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था। अपने पत्र में कुमार मंगलम बिड़ला ने कंपनी को घाटे से निकालने के लिए 27.66 प्रतिशत की अपनी हिस्सेदारी को पब्लिक सेक्टर/गर्वनमेंट/डोमेस्टिक फाइनेंशियल इंटीटी या किसी और जिसे सरकार सही माने उसको सौंपने की बात कही थी। साथ ही बिरला ने यह भी कहा था कि VIL (Vodafone Idea Limited) की स्थिति बहुत तेजी से खराब हो रही है। अपनी योजनाओं और सरकार का बकाया चुकाने के लिए कंपनी को 25 हजार करोड़ रुपये की जरूरत है। बता दें, तमाम कोशिशों के बाद भी कंपनी यह राशि जुटाने में असफल रही है।

Input : Live Hindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *