0 0
Read Time:6 Minute, 1 Second

बिहार के लाल ने अमिताभ बच्चनके रियलिटी शो कौन बनेगा करोड़पति में बिहार का झंडा लहराया है। नवादा के रजत शर्मा शुक्रवार की रात 9:00 बजे हॉट सीट पर बैठे। अमिताभ बच्चन के साथ वह पूरे जोश में नजर आये। शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए रजत ने 6.40 लाख रुपये जीते। उनकी हाजिरजवाबी से अमिताभ भी गदगद नजर आए। अमिताभ के द्वारा पसंदीदा फिल्म के बारे में पूछने पर रजत ने सबको लोटपोट कर दिया। उन्होंने अमिताभ की सूर्यवंशम को अपनी पसंदीदा फिल्म बताई। जब अमिताभ ने पूछा कि यह फिल्म क्यों पसंद है तो रजत ने अनोखे अंदाज में कहा कि इस फिल्म में आपकी पहली प्रेमिका गयी। दूसरी आयी। वह कहां से कहां पहुंच गयी। उसने आपको कहां से कहां पहुंचा दिया। और फिर आप दोनों कहां से कहां पहुंच गये। रजत का यह अंदाज इतना मस्त था कि अमिताभ समेत सभी दर्शक जोर से हंस पड़े।

ऐसे ही मजाकिया अंदाज में बातचीत के बीच केबीसी में प्रश्न और उत्तर का दौर चलता रहा। रजत भी पूरे जोश के साथ जवाब देते रहे। लाइफ लाइन का भी उन्होंने इस्तेमाल किया। अंतत: वह खेल से क्विट कर गये और उनकी धन अर्जन यात्रा थम गयी। धनराशि जीतने की कितनी खुशी उन्हें मिली, इससे इतर अमिताभ बच्चन से मिलने और उनका सानिध्य पा कर रजत की खुशी सातवें आसमान पर दिखी। ऐसी ही खुशी रजत के पिता उमेश चंद्र शर्मा के चेहरे पर भी दिखती रही। वह भी रजत के साथ मुंबई गये थे। उनकी खुशी दर्शक दीर्घा में रहते हुए भी साफ झलक रही थी।

नवादा में की गयी शो की विशेष स्क्रीनिंग

रजत के शो की शुक्रवार को विशेष स्क्रीनिंग की गयी। शहर के होटल राज दरबार में अनेक गणमान्य लोग जुटे। सभी रजत की सफलता के गवाह बने। सभी ने उन्हें बधाई दी। रजत के परिजन भी इस अविस्मरणीय क्षण का भरपूर आनंद जीते दिखे।

हॉट सीट पर बैठने के कारनामा से छाये रजत

केबीसी में हॉट सीट तक पहुंच कर एक सम्मानजनक राशि जीतने वाले रजत के नाम की धूम मची है। वह नवादा और आसपास छाये हुए हैं। वह अनायास सोशल मीडिया सेंसेशन बन गये हैं। आज के प्रसारण से संबंधित सोनी चैनल का प्रोमो सभी ने अपने एफबी प्रोफाइल पर लगा कर रजत का भरपूर समर्थन किया। शुक्रवार के दिन भर एक अलग ही नजारा शहर समेत जिले भर में रहा।

नवादा गढ़पर के रहने वाले युवा रजत शर्मा ने कौन बनेगा करोड़पति के हॉट सीट तक पहुंच कर नवादा को गौरवान्वित होने का जो मौका दिया है, सभी उस पर हर्ष जताते दिखे। रजत ने अपनी बात नवादा के उल्लेख से ही शुरू की तो मेगास्टार अमिताभ बच्चन ने भी नवादा की शान में कशीदे गढ़े और यह पल हर नवादवासी के दिलों पर छा गया। अपनी और अमिताभ की जन्मतिथि 11 अक्टूबर रहने की बात से भी रजत और अमिताभ एक दूसरे से ज्यादा जुड़ सके।

सतत लगन ने दिलाया यह मुकाम

रजत शर्मा पूरी तरह से केबीसी के फैन हैं। उनके पिता उमेश चंद्र शर्मा भी समान रुचि रखते हैं।
रजत शर्मा ने सोनी लिव के मोबाइल एप प्ले एलॉन्ग के माध्यम से केबीसी के हॉट सीट तक का सफर तय किया। पूरे देश से करोड़ों के बीच 200 के साथ वह शॉर्टलिस्ट हुए जबकि वीडियो कॉलिंग के तहत हुए टेस्ट में दो राउंड के बाद वह अंतिम दस में चुने गए। तब जा कर फास्टेस्ट फिंगर फर्स्ट की स्पर्धा तक पहुंचने की सूचना उन्हें 27 सितम्बर को मिली थी। इसके बाद वह मुम्बई पहुंच कर रिकॉर्डिंग में शामिल हुए। मुम्बई के फिल्मसिटी में उनके साथ उनके पिता मौजूद रहे।

बचपन से मेधावी रजत बने युवाओं की प्रेरणा

बचपन से ही मेधावी रहे रजत शर्मा आज युवाओं की प्रेरणा बन गए हैं। मूलत: वाराणसी के रहने वाले रजत अब पूरी तरह से ही नवादा के हो कर रह गए हैं। संत जोसेफ स्कूल से दसवीं तथा वाराणसी से 12वीं और फिर नवादा एसआरएस कॉलेज से बी-कॉम करने वाले रजत पढ़ाई के बाद पिता की 40 वर्ष पुरानी दुकान शर्मा इलेक्ट्रोनिक्स को बढ़ाने में लग गए। अंतत: उनके सपने ने इस मुकाम तक पहुंचाया, जिसके बारे में वह कहते हैं कि आज के युवा सपने जरूर देखें तब ही मंजिल मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रयत्न करना जरूरी है। असफलता मिलेगी तो बुरा सुनना पड़ सकता है लेकिन सफलता मिलते ही सब सम्मान देंगे। इसलिए लक्ष्य की तरफ बिना रूके बढ़ते रहें।

Input : live hindustan

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: