0 0
Read Time:3 Minute, 49 Second

मुजफ्फरपुर, जिले में सात थानों को खोलने की कवायद पिछले कई सालों से की जा रही। इसका प्रस्ताव भेजा गया, लेकिन अभी तक कोई शुरू नहीं हो सका है। इस कारण अपराध पर लगाम लगाने में मुश्किल आ रही है। कच्ची-पक्की, गन्नीपुर और राजेपुर समेत सात जगहों पर नए थाने खोलने का प्रस्ताव पुलिस मुख्यालय को भेजा जा चुका है। विभागीय अधिकारियों की मानें तो कई जगहों पर जमीन अधिग्रहण कर भवन निर्माण की कवायद चल रही है। बाबनबीघा में मिठनपुरा थाने का नया भवन बनकर तैयार हो गया है। इसे देखते हुए पानी टंकी व क्लब रोड का इलाका खाली न पड़ जाए, इसलिए मिठनपुरा के पानी टंकी चौक पर पुलिस पिकेट बनाने की मांग चल रही है, लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया जा रहा।

नए थाने बनाने की कवायद एक साल से चल रही है। चार साल पूर्व नगर थाना क्षेत्र के सिकंदरपुर इलाके में लगातार हो रही छिनतई व लूटपाट को देखते हुए सिकंदरपुर ओपी खोला गया था। सीतामढ़ी-मुजफ्फरपुर मार्ग में अहियापुर थाना क्षेत्र की बढ़ती सीमा को देखते हुए झपहां में पुलिस पिकेट बना दिया गया, लेकिन यह व्यवस्था काफी नहीं है।

कई मंडियों में तैनात रहती पुलिस

लूटपाट रोकने को लेकर शहर की आभूषण मंडी, सूतापट्टी, सरैयागंज टावर, कल्याणी, कलमबाग चौक, कच्ची-पक्की, रामदयालू आदि जगहों पर पुलिस की तैनाती तो रहती है, लेकिन वे अपनी जिम्मेदारी ठीक से नहीं निभाते हैं। शहर के करीब 24 जगहों पर रोटेशन में पुलिस की ड्यूटी लग रही है।

टाइगर मोबाइल भी करते हैं गश्ती

गश्ती दल के अलावा टाइगर मोबाइल के जवान भी बाइक से भ्रमणशील रहते हैं। पैदल भी जवानों को शहर के भीड़ वाले इलाके में तैनात किया गया है। रिपोर्ट पुलिस कंट्रोल रूम से लिया जाता है।

बैंकों व पेट्रोल पंपों की होती रूटीन जांच

बैंकों से नकद निकासी व जमा करने के दौरान रास्ते में लूटपाट व छिनतई रोकने के लिए पुलिस की सक्रियता बढ़ी है। गश्ती दल के पदाधिकारी बैंकों में रूटीन तौर पर जांच करते हैं। इसके अलावा पेट्रोल पंपों की जांच होती है। सीसीटीवी को खंगाला जाता है।

हर दिन हो जा रही लूट व छिनतई

तमाम कोशिशों के बाद भी जिले के विभिन्न इलाकों में औसतन हर दिन लूटपाट व छिनतई की घटनाएं होती हैं। इससे पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठ रहे है। नगर डीएसपी रामनरेश पासवान के अनुसार, अपराध नियंत्रण व अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर कई तरह की टीम काम कर रही है। शहर के दो दर्जन से अधिक जगहों पर रोटेशन में पुलिस पदाधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। आने-जाने वालों की जांच की जाती है।

इनपुट : जागरण

Advertisment

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: