https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

मुजफ्फरपुर, सारण सदर अस्पताल की डा. अनामिका की पति द्वारा कुर्सी में बांधकर बेरहमी से पिटाई करने के मामले में काजी मोहम्मदपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। घटना माड़ीपुर इलाके की है। महिला चिकित्सक के बयान देने की स्थिति में नहीं होने पर उनके मामा अमित कुमार ने प्राथमिकी दर्ज कराई है। इधर, आरोपित पति की गिरफ्तारी के लिए पुलिस जब अस्पताल में पहुंची तो वह चकमा देकर भाग निकला। जबकि दो दिनों से वह अस्पताल में रहकर पत्नी का इलाज करा रहा था और रेफर करने को लेकर प्रबंधन पर दबाव बना रहा था। इधर, पुलिस को दिए बयान में चिकित्सक के मामा अमित कुमार ने बताया कि 17 अगस्त की रात 11 बजे भांजी डा. अनामिका ने काल कर पति शैलेश रंजन द्वारा बुरी तरह से मारपीट करने की जानकारी दी। वहां पहुंचे। दरवाजा खोलने के लिए आवाज दिए तो शैलेश गाली देने लगा। धमकी देते हुए कहा गया कि भाग जाओ नहीं तो मार देंगे। किसी तरह मान मनौव्वल कर दरवाजा खुलवाया। इसके बाद शैलेश दूसरे कमरे में चला गया। भांजी अनामिका फर्श पर पड़ी थी। दोनों को समझाकर वे अपने घर चले गए।

19 अगस्त को कार चालक ने फोन करके बताया कि मैडम को कुर्सी से बांधकर पति ने बहुत मारपीट की है। अचेत हालत में उन्हें जूरन छपरा अस्पताल लेकर जा रहे हैं। इसके बाद वे अस्पताल पहुंचे। बताया कि डा. अनामिका पर अपनी पैतृक संपति रजिस्ट्री करने के लिए पति शैलेश रंजन द्वारा दबाव बनाया जाता है। इन्कार करने पर बुरी तरह से मारपीट किया जाता है। भांजी उनको पहले बताई थी कि संपत्ति के लिए कभी भी उनकी जान जा सकती है। बता दें कि डा. अनामिका की शादी करीब 16 साल पूर्व धर्मशाला पान मंडी निवासी शैलेश रंजन से हुई थी। उनकी एक बेटी है। रिश्ते में दरार की वजह से वह माड़ीपुर स्थित मायके में रह रही हैं। सरैया में उनकी क्लीनिक है। घटना के बाद पुलिस ने उनकी सुरक्षा बढ़ा दी है। नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने कहा कि मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। आरोपित पति की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।

इनपुट : जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *