https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

एक तरफ शहरवासी जलजमाव, कीचड़, गंदगी और सड़काें के गड्ढे झेल रहे हैं। दूसरी ओर नगर निगम में कुर्सी पर कब्जे का खेल चल रहा है। सोमवार को 18 निगम पार्षदों ने भ्रष्टाचार में संलिप्तता समेत कई गंभीर आरोप लगाते हुए मेयर सुरेश कुमार पर अविश्वास प्रस्ताव के लिए नोटिस दे दिया। डिप्टी मेयर समेत ये सभी पार्षद दफ्तर खुलने के पहले ही नगर निगम पहुंच गए थे। दूसरी ओर, मेयर सुरेश कुमार ने डिप्टी मेयर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के लिए आनन-फानन में आगामी 23 जुलाई को बैठक बुला दी है। इसमें 18 पार्षदों की ओर से डिप्टी मेयर मानमर्दन शुक्ला को अहंकारी बताया गया है।

उधर, राकेश सिन्हा पप्पू समेत कई पार्षदों ने पहले मेयर पर लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर बैठक नहीं बुलाने को पद का दुरुपयोग बताया है। सोमवार की सुबह दफ्तर खुलने के पहले 9:30 बजे ही मेयर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर डिप्टी मेयर, पार्षद राकेश सिन्हा पप्पू व राकेश कुमार वहां पहुंच गए। 10:02 बजे मेयर के स्टाफ के पहुंचते ही अविश्वास प्रस्ताव रिसीव करा दिया गया। दूसरी अाेर डिप्टी मेयर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर रिसीविंग शनिवार की तिथि में मेयर की है। इन सबके बीच डिप्टी मेयर घंटों नगर निगम दफ्तर में मौजूद रहे, जबकि मेयर कार्यालय नहीं पहुंचे।

दफ्तर का ताला खुलने के पहले मेयर के खिलाफ प्रस्ताव लेकर पहुंच गए कई पार्षद, मेयर नहीं पहुंचे आफिस

नगर आयुक्त से डिप्टी मेयर बाेले उनके खिलाफ 5 हस्ताक्षर हैं फर्जी

डिप्टी मेयर मानमर्दन शुक्ला पार्षदों के साथ नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय से मिले। बताया कि उनके खिलाफ पांच पार्षदों के हस्ताक्षर फर्जी हैं, अथवा झांसा दे हस्ताक्षर कराया गया है। वे पांच पार्षद शपथ पत्र देने को तैयार हैं। नगर आयुक्त ने साफ कहा कि इस मामले में वे अपने स्तर से कोई निर्णय नहीं ले सकते। मामले काे सदन में रखा जाएगा। जाली हस्ताक्षर साबित होने पर प्राथमिकी करानी पड़ सकती है, जो वे नहीं चाहते।

मेयर पर अविश्वास प्रस्ताव के लिए दिए गए आवेदन में इन पार्षदों का है हस्ताक्षर

वार्ड पार्षद 03 राकेश कुमार पिंटू 09 एनामुल हक 10 अभिमन्यु चौहान 02 गायत्री चौधरी 07 सुषमा देवी 05 सीमा कुमारी 17 विकास सहनी 45 शिवशंकर महतो 48 मोहम्मद हसन वार्ड पार्षद 47 गीता देवी 23 राकेश सिन्हा पप्पू 28 राजीव कुमार पंकु 36 प्रियंका शर्मा 31 रूपम कुमारी 25 संतोष कु. शर्मा 29 रंजू सिन्हा 38 शबाना परवीन 30 सुरभि शिखा

आगे क्या : कुर्सी से हटाने के लिए 25 पार्षदों को विरोध में करनी होगी वोटिंग

मेयर सुरेश कुमार अथवा डिप्टी मेयर मानमर्दन शुक्ता काे कुर्सी से बेदखल करने के लिए उनके विरोध में 25 पार्षदों को वोटिंग करनी होगी। साथ ही 20 पार्षद के रहने पर ही अविश्वास प्रस्ताव पर बहस कराई जा सकती है। दूसरी तरफ मेयर द्वारा अपने खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर बहस नहीं बुलाने की स्थिति में पार्षद 7 दिन के बाद स्वयं बैठक बुलाने के लिए अधिकृत हो जाएंगे। नगर आयुक्त ने भी कानून की किताब देखने के बाद डिप्टी मेयर के साथ पहुंचे पार्षदों को आश्वस्त किया कि वे भी सात दिनों के बाद बैठक बुला सकते हैं।

इधर, मेयर और डिप्टी मेयर ने एक-दूसरे के खिलाफ प्रस्ताव पर नहीं किया है हस्ताक्षर

मेयर सुरेश कुमार और डिप्टी मेयर मानमर्दन शुक्ला ने एक-दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोलने के बावजूद अविश्वास प्रस्ताव के लिए दिए गए नाेटिस पर अपना हस्ताक्षर नहीं किया है। चर्चा है कि डिप्टी मेयर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर मेयर ने हस्ताक्षर तो कर दिया था, लेकिन बाद में उसेे काट दिया। दूसरी तरफ राकेश सिन्हा पप्पू का हस्ताक्षर दोनों अविश्वास प्रस्ताव पर है। हालांकि, वे पहले ही डिप्टी मेयर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने से पलट चुके हैं। कहा कि 2 साल पहले ही हस्ताक्षर कराया गया था।​​​​​​​

डिप्टी मेयर के खिलाफ प्रस्ताव को दिए आवेदन में इन पार्षदों का है हस्ताक्षर

वार्ड पार्षद 23 राकेश सिन्हा पप्पू 04 हरिओम कुमार 40 अब्दुल बाकी 15 अंजू कुमारी 19 निर्मला देवी 34 आभा रंजन 42 अर्चना पंडित 12 शहनाज खातून 49 नीलम गुप्ता वार्ड पार्षद 11 प्रमीला देवी 13 सुनीता भारती 16 पवन राम 18 संजू देवी 45 शाहिदा खातून 38 शबाना परवीन 32 गीता देवी 06 जावेद अख्तर गुड्डू 44 सीमा झा

Input: dainik bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *