https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में ‘फर्जी’ टीकाकरण कैम्प का शिकार हुईं तृणमूल कांग्रेस सासंद मिमी चक्रवर्ती (Mimi Chakraborty) की तबियत शनिवार को बिगड़ गई. उन्होंने चार दिन पहले शहर के कस्बा इलाके में आयोजित एक कैम्प में वैक्सीन लगवाई थी. हालांकि, टीका लगवाने के बाद ही उन्हें धांधली का शक हुआ और उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. मामले की जांच शुरू हुई और यह एक बड़े वैक्सीन घोटाले के रूप में सामने आया. फिलहाल घर पर उनका इलाज जारी है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, टीएमसी सांसद मिमी चक्रवर्ती वैक्सीन लेने के बाद बीमार हो गई हैं. शनिवार सुबह ही डॉक्टर उनके घर पहुंचे थे. बताया जा रहा है कि पेट में तेज दर्द और अत्याधिक पसीना बहने समेत उन्हें स्वास्थय से जुड़ी कुछ परेशानियां हो रही हैं. चक्रवर्ती को अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी गई थी, लेकिन उन्होंने घर में ही उपचार कराने की बात कही है.

रिपोर्ट के मुताबिक, चक्रवर्ती को पहले ही स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां हैं. हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि क्या संभावित एंटीबैक्टीरियल इंजेक्शन के चलते उन्हें कोई विपरीत दुष्प्रभाव हो रहे हैं. इस हफ्ते की शुरुआत में टीएमसी सांसद को वैक्सीन कैम्प में आमंत्रित किया गया था. उन्होंने कहा कि वैक्सीन के बाद एसएमएस नहीं मिलने के चलते उन्हें इस प्रक्रिया पर शक हुआ.

उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए जानकारी दी थी कि वैक्सीन भले ही नकली थी, लेकिन वे हानिकारक नहीं थीं. सांसद ने बताया कि कैम्प पर इस्तेमाल किए जा रहे वायल्स को जांच के लिए लैब भेजा गया है और 4-5 दिनों में परिणाम आ सकते हैं.

क्या है ‘वैक्सीन घोटाला’?
कोलकाता में कुछ समय से ‘फर्जी वैक्सीन कैम्प’ का मामला सुर्खियों में है. यहां देबांजन देव नाम के एक शख्स ने खुद को आईएएस अधिकारी बताकर दो वैक्सीन कैम्प आयोजित किए थे. माना जा रहा है कि इस दौरान टीएमसी सांसद समेत करीब दो हजार लोगों ने टीका लगवाया था. मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस ने कई वैक्सीन की जगह पर इस्तेमाल किए जा रहे वायल पर लगे एक एंटीबायोटिक इंजेक्शन के फर्जी लेबल बरामद किए

Source : News18

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *