Muzaffarpur Smart City Mission: शहर के सभी प्रमुख जल निकासी मार्ग कैमरे की नजर में होंगे। इंटीग्रेटेड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर में बैठकर न सिर्फ जल निकासी पर नजर रखी जाएगी बल्कि नाले के जलस्तर का भी पता चलेगा। स्मार्ट सिटी मिशन के तहत आउटलेट के पास सोलर पावर सेंसर लगाए जा रहे हैं। इससे आउटलेट से पानी का बहाव बाधित होते ही पता चल जाएगा और निगम की टीम वहां पहुंचकर सफाई का काम करेगी। नगर आयुक्त एवं स्मार्ट सिटी मिशन के प्रबंध निदेशक विवेक रंजन मैत्रेय ने बताया कि शहर के आधा दर्जन आउटलेटों से पानी बाहर निकलता है। आउटलेट जाम होने से शहर में जलजमाव की समस्या उत्पन्न होती है।

आउटलेट शहर के बाहर होने के कारण निगरानी रखने में परेशानी होती थी। लेकिन सोलर पावर सेंसर लगने से अब पानी के बहाव पर सतत निगरानी रखी जा सकेगी। स्मार्ट सिटी योजना के इंटीग्रेटेड कमांड एवं कंट्रोल सिस्टम के तहत इस कार्य को किया जा रहा है। इस सिस्टम के काम करते ही न सिर्फ जल निकासी बल्कि शहर की साफ-सफाई, यातायात एवं शहर में होने वाले जाम को कमांड सेंटर में बैठकर देखा जा सकेगा और वहां से आवश्यक निर्देश जारी किया जा सकेगा।

सिटी स्क्वाड ने पांच दुकानदारों से वसूले 15 हजार रुपये

मुजफ्फरपुर : नगर निगम के सिटी स्क्वाड ने शनिवार को सिकंदरपुर एवं अखाड़ाघाट रोड में प्रतिबंधित पालीथिन एवं ङ्क्षसगल यूज प्लास्टिक की बिक्री जांच को लेकर अभियान चलाया। अभियान के दौरान दस्ते ने दो दर्जन दुकानों में छापेमारी कर पांच दुकानों को प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग करते पकड़ा। उनसे 15 हजार रुपये जुर्माना की वसूली की गई। साथ ही दुबारा प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग करते पकड़े जाने पर जुर्माना की राशि दोगुनी वसूल करने एवं कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी। अभियान का नेतृत्व रामलला शर्मा, कौशल किशोर, अजय कुमार, नवीन कुमार, आशीष आनंद आदि ने किया। रामलला शर्मा ने कहा कि जल्द ही होटल, सब्जी मंडी एवं फास्ट फूड की दुकानों पर छापेमारी की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन दुकानों को प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग करते पकड़ा गया है यदि उन्हें दोबारा पकड़ा गया तो जुर्माना की राशि भी दोगुनी वसूल की जाएगी।

इनपुट : जागरण

Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *