https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

पटना. डबल इंजन की सरकार में सड़कें चौड़ी और बेहतर हो गई हैं. इसे देखते हुए अब परिवहन विभाग भी राज्यवासियों को रोज तोहफा देने लगा है. जहां अलग-अलग रूटों पर सीएनजी और इलेक्ट्रिक बसें चलाई जा रही हैं, वहीं अब राज्य के बाहर यानी छत्तीसगढ़ और बंगाल के लिए भी बस सेवा शुरू होने जा रही है.

परिवहन प्राधिकार ने बिहार से बंगाल और छत्तीसगढ़ के लिए परमिट देने के लिए गाड़ी मालिकों से ऑनलाइन आवेदन भी मांग लिया है. गाड़ी मालिक को 23 जून तक ऑनलाइन आवेदन जमा करने की मोहलत दी गई है, जबकि 24 जून तक आवेदन की हार्ड कॉपी भी कार्यालय में जमा करने का निर्देश दिया गया है.

परिवहन विभाग की योजना के मुताबिक, छत्तीसगढ़ और बंगाल के लिए 180 बसें चलाई जाएंगी. इसको लेकर विभाग ने रिक्तियां निकाली हैं. साथ ही परमिट के लिए गाड़ी मालिकों से आवेदन मांगे गए हैं. परिवहन विभाग ने पश्चिम बंगाल और छत्तीसगढ़ के साथ समझौता कर लिया है और उसी दौरान यह तय हुआ था कि 6 दर्जन रूटों पर बसों का परिचालन होगा. हालाकि अभी परमिट की स्वीकृति नहीं मिली है और इसको लेकर 8 जुलाई को एक महत्त्वपूर्ण बैठक होगी.

रूटों की बात करें तो सुल्तानगंज से मालदा वाया कटिहार, भागलपुर से सिउरी वाया दुमका, मरहर से कोलकाता वाया धनबाद का रूट तय किया गया है. इसी तरह से अलग-अलग रूट मैप तैयार किए गए हैं. इनमें सबसे ज्यादा रिक्तियां पूर्णिया से कोलकाता वाया फरक्का और भागलपुर से दुर्गापुर वाया दुमका रूट पर हैं.

सरकार का प्रयास है कि जिस तरह देशभर में सड़कों का जाल बिछा है, ऐसे में बारी-बारी से देशभर में परिवहन विभाग बस सेवा शुरू कर सके और हजारों मुसाफिरों को सस्ती दरों में लंबी यात्रा का मौका मिले. अब इंतजार करना जरूरी होगा कि बैठक के बाद कब तक राज्यवासियों को ये तोहफा दिया जाता है.

Source : News18

Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *