https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

प्रखंड के भटौलिया स्थित एम बी आर आई परिसर में रविवार को बिहार कृषि महोत्सव 2023 के साथ भगवान जानकी स्मृति सम्मान समारोह का आयोजन किया गया । महोत्सव की अध्यक्षता राजेंद्र प्रसाद कृषि विश्विद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ गोपालजी त्रिवेदी ने किया , महोत्सव का शुभारंभ मुख्य अतिथि वैशाली सांसद वीणा देवी, विधायक केदार गुप्ता, पूर्व कुलपति गोपालजी त्रिवेदी, बौद्ध गुरु डॉ सूर्य भंते, शिशु चिकित्सक डॉ राजीव कुमार सहित अन्य अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर किया.

मुख्य अतिथि वैशाली सांसद वीणा देवी ने किसानों का अभिनंदन करते हुए मोटे अनाज के उत्पादन तथा ऑर्गेनिक खेती करने पर जोड़ दिया. विधायक केदार गुप्ता ने कहा कि पूर्व की सभी राज्य व केंद्र सरकारों ने किसानों के विकास की चर्चा तो किया. लेकिन किसान के विकास के लिए कोई कार्य नहीं किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में वर्ष 2014 से किसानों के विकास को लेकर योजनाएं चलाई जा रही है. इसी कड़ी में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से किसानों को बिना बिचौलियों के किसानों को 6000 रु की सहायता दी जा रही है.

एस डी एम मुजफ्फरपुर पूर्वी ज्ञान प्रकाश ने पूर्व तथा वर्तमान के भागौलिक स्थिति की तुलना करते हुए किसानों को अपने पुराने विधि से खेती करने तथा मोटे अनाजों को उपयोग में लाने की अपील की.एसडीएम मुजफ्फरपुर पश्चिमी बृजेश कुमार ने सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को विस्तार पूर्वक बताया साथही प्रशासन द्वारा मुजफ्फरपुर जिला में भरपूर समर्थन सहयोग दिव्यांग जनों के लिए चर्चा कीए जिसमें बिहार पीडब्ल्यूडी संघ के राज्य मीडिया प्रभारी अर्थात जिला कार्यक्रम समन्वयक लालू तुरहा तथा जिला सचिव श्री शांति मुकुल शर्मा को फुल सपोर्ट करते हुए दिव्यांग जनों के लिए सार्थक प्रयास बताएं कृषि क्षेत्र में भी दिव्यांग जनों को भागीदारी होनी चाहिए तथा किसानों को लाभ लेने की अपील की.

वहीं परासर हॉस्पिटल के संस्थापक डा विजयेश कुमार ने किसान को अन्नदाता बताया.साथ हीं स्वामी सहजानंद सरस्वती को भारत रत्न देने की मांग की. अपने
अध्यक्षीय संबोधन में पूर्व कुलपति गोपालजी त्रिवेदी ने कहा कि वर्तमान समय साइंस और टेक्नोलॉजी का जमाना है.आज कृषि विज्ञान केंद्र की सहायता से किसानों को प्रशिक्षित किया जा रहा है ,MBIRI के संस्थापक तथा युवा वैज्ञानिक अविनाश कुमार वर्तमान में किसानों के प्रेरणाश्रोत है , किसानों को गन्ने से अब चीनी उत्पादन के साथ गुड बनाने पर ध्यान देना चाहिए.ग्रामीण क्षेत्रों में गन्ना से गुड़ बनाने की आधुनिक मशीन से रोजगार के सृजन के साथ किसानों की दशा में सुधार होगी. सरकार भी इस मामले में पहल कर रही है.आज बिहार में अच्छी योजनाओं के रहने के वावजूद भी किसानों के बीच इंप्लीमेंट नहीं हो रही है.बिहार में कृषि में विकास की दर अन्य राज्यों की तुलना में सबसे ज्यादा है. वहीं कलाकारों की प्रस्तुति की प्रसंशा की.परासर हॉस्पिटल के संस्थापक डा विजयेश कुमार ने किसान को अन्नदाता बताते हुए सभी को उनका सम्मान करने की बात कही. स्वामी सहजानंद सरस्वती को भारत रत्न की मांग की.मौके पर डॉ. गौरव वर्मा, डॉ. एचएन भारद्वाज, सहित दर्जनों अतिथि व सैकड़ों किसान उपस्थित थे.मंच संचालन हिंदी साहित्य की मीनाक्षी मिनल ने किया तथा धन्यवाद ज्ञापन मुजफ्फरपुर जिला पीडब्ल्यूडी संघ के सचिव श्री शांति मुकुल ने किया ।

कार्यक्रम के घड़ी में सम्मानित किए गए
भगवान जानकी स्मृति सम्मान से प्रशासनिक सेवा तथा दिव्यांगजन के हित में बेहतरीन कार्य करने पर एसडीएम पूर्वी ज्ञान प्रकाश तथा एसडीएम पश्चिमी बृजेश कुमार, चिकित्सा क्षेत्र में डॉ. चैतन्य कुमार व डॉ. रूही यास्मीन, दिव्यांग सेवा से कुमारी वैष्णवी , समाजसेवा से अंकित भारद्वाज,योग से डॉ. कुमारी मालविका, शिक्षा से डॉ. मंजूबाला, सुमित कुमार व पवन कुमार,कृषि से संजय कुमार यादव, अभिषेक रंजन, दीपक कुमार व सोनू निगम,कला से शिवा चौधरी, राजेश शर्मा व देविका रानी को भगवान जानकी स्मृति सम्मान से सम्मानित किया गया.मौके पर डॉ. राजीव कुमार, डॉ. गौरव वर्मा, डॉ. एचएन भारद्वाज, डॉ. चैतन्य कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *