असानी चक्रवात के प्रबल होते ही सूबे के मौसम पर उसका असर दिखने लगा है। पटना में सोमवार की सुबह मौसम में बदलाव देखा गया। राजधानी के कुछ इलाकों में आंशिक बूंदाबांदी हुई। सुबह दो-तीन घंटे तक काले-काले बादल छाए रहे और ठंडी हवा चली। हवा की रफ्तार 20 किमी प्रतिघंटे तक रही।

अधिकतम तापमान में गिरावट
मौसम में बदलाव से पटना सहित कई शहरों का पारा तेजी से गिरा है। पटना में 1.9 डिग्री, मुजफ्फरपुर में 1.8 डिग्री, वैशाली में 2.5 डिग्री, भागलपुर में 1.4 डिग्री, औरंगाबाद में 1.1 डिग्री, समस्तीपुर में एक डिग्री पारा नीचे आया है।

13 तक 24 जिलों में आंधी-पानी का अलर्ट

राज्य के 24 जिलों में मौसम विभाग ने 13 मई तक आंधी-पानी की चेतावनी जारी की है। इस दौरान जगह-जगह गरज-तड़क की स्थिति बनेगी। यह अलर्ट सोमवार से ही राज्य में प्रभावी है। मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार तूफान का आंशिक असर बिहार में दिखेगा। राज्य भर में पुरवा का प्रभाव बना हुआ है।

साथ ही पूर्वी उत्तरप्रदेश की ओर से चक्रवाती परिसंचरण की स्थिति बनी हुई है। इसके प्रभाव से सोमवार को राज्य के अधिकतर भाग में मौसम में बदलाव देखा गया। राज्य भर में गया सबसे गर्म रहा, जहां अधिकतम पारा 38.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पटना में सुबह बूंदाबांदी के बाद दोपहर और शाम में पसीने वाली गर्मी ने लोगों को परेशान किया।

उत्तर बिहार के इन जिलों के लिए है अलर्ट
पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, सीवान, सारण, गोपालगंज, सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर, सुपौल, अररिया, किशनगंज, मधेपुरा, सहरसा, पूर्णिया, कटिहार

दक्षिण पूर्व बिहार के लिए भी चेतावनी
दक्षिण बिहार के पांच जिलों के लिए भी चेतावनी जारी की गई है। यहां भी 13 मई तक आंधी पानी की स्थिति बनी रहेगी। इन जिलों में भागलपुर, बांका, जमुई, मुंगेर और खगड़िया है।

Input : live hindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *