12 दिन के अंदर कर ले ये काम, नहीं तो कट जायेगा रासन कार्ड मे से नाम

0 0
Read Time:4 Minute, 14 Second

भारत मे रासन कार्ड को लेकर एक बड़ी खबर सामने आयी है. जिन लोगो के पास भी रासन कार्ड है उन्हें आधार कार्ड से अपने रासन कार्ड को लिंक करवाना जरुरी कर दिया गया है. ऐसा ना करने पे उनका नाम रासन कार्ड से काट दिया जायेगा. हालांकि देश के तकरीबन 24 करोड़ राशनकार्डधारकों 90 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने आधार पैन लिंकिंग कर रखा है. लेकिन जो लोग अभी तक नहीं कर पाए है उनके लिए डेडलाइन आ गई है. राशनकार्डधारकों को हर हाल मे 30 सितंबर 2020 तक अपने आधार कार्ड से रासन कार्ड को लिंक करा लेना है. यानि की आपके पास मात्र 12 दिन बचे हैं. बचे हुए इन 12 दिनों में ही राशन कार्ड को आधार से लिंक कराना होगा. वरना आप आने वाले दिनों में राशनकार्डधारक सरकारी योजनाओं का लाभ लेने से वंचित भी हो सकते हैं. केंद्र सरकार ने इसको लेकर सभी राज्य सरकारों को अलर्ट जारी कर दिया है.

जाने क्या है तरीका रासन कार्ड मे आधार कार्ड लिंक करने का

इसके लिए आप पीडीएस दुकान पर जा के भी राशन कार्ड को आधार से लिंक करा सकते हैं या फिर यूनिक आइडेंटिफिकिशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) की वेबसाइट पर भी इस बारे में जानकारी दी गई है.

इसके लिए पीडीएस सेंटर पर राशन कार्ड की कॉपी और परिवार के सभी सदस्यों का आधार कार्ड की कॉपी जमा करें.

राशन कार्ड में परिवार के मुखिया का पासपोर्ट साइज फोटो भी जमा करें.

बॉयोमेट्रिक मशीन पर उंगली रखने पर पूरा डाटा आ जाएगा.

अधिकारी आपका पूरा डिटेल्स और आधार नंबर मैच करेंगे.

आपका रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर राशन कार्ड से आधार लिंक का मैसेज आने पर आपका लिंकिंग सफलतापूर्वक स्वीकार का मैसेज आएगा.

आधार से लिंक नहीं होने पर पोर्टिबिलिटी सेवा का लाभ नहीं

केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना वन नेशन वन राशनकार्ड योजना में अब तक 26 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश से जुड़ गए हैं. इन राज्यों में पोर्टिबिलिटी सेवा शुरू हो गई है. देश में 31 मार्च 2021 तक 81 करोड़ से भी ज्यादा लाभार्थियों को इस योजना से जोड़ने का प्लान है. इस योजना से जुड़ने के बाद देश की आधी आबादी से ज्यादा लोगों को लाभ मिलेगा. केंद्र सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि 31 मार्च 2021 तक देश के सभी राज्यों को वन नेशन वन राशन कार्ड योजना से जोड़ दिया जाए. राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत आने वाले सभी 81 करोड़ लाभार्थियों को इसका लाभ फिर से आसानी से मिल सकेगा.

ज्ञात हो की कोरोना काल में 81 करोड़ से ज्यादा राशन कार्डधारकों को भारत सरकार ने मुफ्त खाद्यान्न योजना मदद से राशन पहुंचाई है. लॉकडाउन के दौरान को भी आदमी भूखा न सोए इसके लिए मोदी सरकार ने मार्च महीने से ही राशन कार्डधारकों को 5 किलो अनाज (गेहूं, चावल और दाल) मुफ्त दे रही है. सरकार की यह स्कीम नवंबर तक जारी रहेगी.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

30 thoughts on “12 दिन के अंदर कर ले ये काम, नहीं तो कट जायेगा रासन कार्ड मे से नाम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: