https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

मुजफ्फरपुर. 17 जुलाई से शुरू होने वाले श्रावणी मेला की प्रशासनिक तैयारी तेज हो गयी है. शुक्रवार को नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय ने मीटिंग कर इंजीनियर व सफाई से जुड़े अधिकारी व कर्मियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया. मीटिंग में नगर निगम के कनीय से लेकर अधीक्षण अभियंता तक मौजूद थे. स्मार्ट सिटी के इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर (आइसीसीसी) प्रोजेक्ट के तहत कांवरिया पथ पर सीसीटीवी कैमरा एवं चौक-चौराहों पर ट्रैफिक लाइट लगाने की कार्रवाई शुरू है, जिसे 30 जून तक पूरा करने की समय-सीमा निर्धारित की गयी है.

कांवरिया पथ पर 30 जून तक लगेगा सीसीटीवी कैमरा व ट्रैफिक लाइट

स्मार्ट सिटी से चल रहे हरिसभा एवं अघोरिया बाजार चौक के सौंदर्यीकरण कार्य को भी सबसे पहले पूरा करने को कहा गया है. इसके अलावा नगर निगम अपने स्तर से एजेंसी का चयन कर पूरे रूट एवं बाबा नगरी के आसपास के गली-मोहल्ले में 1500 एलइडी स्ट्रीट लाइट लगायेगा. इससे कांवरिया पथ दूधिया रोशनी से जगमग करेगा. साथ ही 200-400 मीटर की दूरी पर कांवरिया पथ एवं शहर के अन्य रोड में भी स्थायी प्याऊ का निर्माण होगा.

सफाई व्यवस्था को दुरुस्त कराने का आदेश

नगर आयुक्त ने इसके लिए एक मॉडल एस्टीमेट बना निर्माण कार्य को शुरू कराने का आदेश इंजीनियरों को दिया है. साथ ही कांवरिया रूट एवं बाबा गरीब नाथ मंदिर से सटे जितनी भी गली-मोहल्ले हैं, सभी का निरीक्षण कर इंजीनियरों को ओपन नाला को स्लैब डाल ढंकने का आदेश दिया है. जर्जर सड़क की भी मरम्मत कर उसे समतल बनाने एवं सफाई व्यवस्था को दुरुस्त कराने का आदेश सिटी मैनेजर व उप नगर आयुक्त को दिया गया है.

आइसीसीसी भवन से श्रावणी मेला की सुरक्षा की होगी मॉनीटरिंग

कंपनीबाग टाउन हॉल के बगल में निर्माणाधीन इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर भवन का निरीक्षण शुक्रवार को जिलाधिकारी प्रणव कुमार व डीडीसी आशुतोष द्विवेदी ने किया. डीएम ने नगर आयुक्त को श्रावणी मेला से पहले आइसीसीसी सिस्टम को स्थापित कर इसे चालू करने का आदेश दिया है. ताकि, मेला के दौरान सुरक्षा की मॉनीटरिंग सीधे आइसीसीसी के कंट्रोल रूम से हो सके. डीएम ने सर्विलांस, पब्लिक अनाउंसमेंट सिस्टम आदि को हर हाल में चालू करने का आदेश दिया है.

कांवरियों की सुविधा के लिए बनाये जायेंगे 13 ठहराव स्थल

कांवरियों की सुविधा का ख्याल रखते हुए 13 ठहराव स्थल चिह्नित किया गया है. सभी ठहराव स्थल शहरी क्षेत्र में ही है. इनमें आरडीएस, आरबीटीएस व एलएनटी कॉलेज, डीएन हाई स्कूल, जिला स्कूल, एमएसकेबी स्कूल एवं कॉलेज आदि शामिल हैं. नगर आयुक्त ने बताया कि सभी ठहराव स्थल पर सफाई से लेकर पेयजल सहित अन्य सुविधाओं की निगरानी के लिए अंचल इंस्पेक्टर की तैनाती की जायेगी. हालांकि, सफाई के लिए इस बार अतिरिक्त कर्मियों की ड्यूटी नहीं लगेगी. पहले से ही वार्डों में एक्स्ट्रा कर्मियों की तैनाती कर दी गयी है.

इनपुट : प्रभात खबर

Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *