https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

मुजफ्फरपुर। नगर थाना के सूतापट्टी स्थित शीतलागली में स्पार्की कंपनी की नकली जींस बेचने के आरोपित दुकान संचालक खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। जेके जैन स्पार्की इंडिया कंपनी के विधि सलाहकार दिल्ली निवासी जुगल किशोर आहूजा ने यह प्राथमिकी दर्ज कराई है। इसमें वैशाखी राम लेन मोतीझील निवासी सतपाल खुराना उर्फ राजीव खुराना उर्फ राजू को आरोपित बनाया है।

कंपनी के विधि सलाहकार की निशानदेही पर सूतापट्टी की शीतलागली स्थित उसकी दुकान राजेश ट्रेडर्स पर मंगलवार की शाम पुलिस ने छापेमारी की थी। इस दौरान वहां से कई नकली जींस बरामद की गई थीं। पुलिस ने आरोपित दुकानदार को गिरफ्तार कर लिया था। जमानतीय धारा में प्राथमिकी दर्ज होने से बुधवार को उसे नगर थाना पुलिस ने जमानत दे दी।

प्राथमिकी में कापीराइट उल्लंघन का आरोप : प्राथमिकी में स्पार्की कंपनी के विधि सलाहकार ने सतपाल खुराना पर कापीराइट उल्लंघन का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कंपनी की ओर से सूचना दी गई कि मुजफ्फरपुर के सूतापट्टी शीतलागली में सतपाल खुराना की दुकान से स्पार्की कंपनी का स्टीकर लगाकर नकली जींस बेची जा रही है। इसपर नगर थाना पुलिस के सहयोग से वहां छापेमारी की गई। उस समय वहां ग्राहकों की काफी भीड़ थी। पुलिस को देखते ही ग्राहक वहां से भाग चले। दुकानदार को पुलिस ने कब्जे में ले लिया।

बताई असली-नकली स्पार्की जींस की पहचान : कंपनी के विधि सलाहकार ने प्राथमिकी में असली स्पार्की जींस की पहचान भी बताई है। उन्होंने बताया कि असली जींस में कंपनी का थ्री होलोग्राम होता है, जबकि नकली में इसकी जगह स्टीकर होता है। इसके नीचे इसका कंफर्मेशन लिखा रहता है। डीकोड करने पर बराबर पाया जाता है। नकली में अंदर कोड बार होता है, लेकिन डीकोड नहीं होता है। असली जींस की चेन पर एसपी लोगो रहता है, नकली में यह नहीं होता है। असली जींस में हर बटन पर स्पार्की लिखा होता है, जबकि नकली में किसी में होल व किसी में नहीं होता है।

इनपुट : जागरण

4 thoughts on “मुजफ्फरपुर में नकली जींस बेचने वाले व्यवसाई के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *