Tejashwi Yadav स्वास्थ्य विभाग संभालने के बाद से लगातार बड़े बदलाव कर रहे हैं. शुक्रवार को जहां उन्होंने पटना के एनएमसीएच के अधीक्षक पर लापारवाही का आरोप लगाते हुए उन्हें हटा दिया, वहीं शनिवार को डॉ बिन्दे कुमार को IGIMS का निदेशक नियुक्त किया है. इससे पहले संस्थान के निदेशक के रुप में प्रो. आशुतोष विश्वास कार्यभार संभाल रहे थे. डॉ बिन्दे कुमार वर्तमान में IGIMS में ही पीडियाट्रिक सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष हैं. हाल के दिनों में उन्होंने कई उपलब्धि हासिल की है.

तेजस्वी यादव अस्पतालों में कराना चाहते हैं बड़ा बदलाव

स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव बिहार के अस्पतालों में व्यवस्था सुधार करना चाहते हैं. इसके लिए उन्होंने जमीनी स्तर से काम शुरू किया है. इसी के तहत वो लगातार अस्पतालों का निरीक्षण कर रहे हैं. पटना में बढ़ते डेंगू के मामलों को देखते हुए उन्होंने गुरुवार को एनएमसीएच का निरीक्षण किया था. वहां व्याप्त अव्यवस्था को देखकर उन्होंने अधीक्षक को निलंबित कर दिया. हालांकि मामले में IMA ने संज्ञान लेते हुए सरकार से अपना फैसला वापस लेने की अपील की है. संस्थान ने साफ कर दिया है कि अगर सरकार अपना फैसला वापस नहीं लेती है तो आईएमए कोई सख्त कदम उठा सकता है.

10 वर्षों से शिशु विभाग में कार्ररत है डॉ बिन्दे

डॉ बिन्दे ने पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (PMCH) से एमबीबीएस की पढ़ाई की है. इसके साथ ही, एमसीएच की पढ़ाई चंडीगढ़ से की है. एमडी की डिग्री हासिल करने के बाद से पिछले दस वर्षों से वो आईजीएमएस बतौर शिशु सर्जरी विभाग में हैं. इस दौरान उनको कई पुरस्कार भी शिशु रोग में बेहतर कार्य के लिये दिया गया. कोरोना काल में उन्हें वैक्सीन मैनेजमेंट के लिए भी पुरस्कृत किया गया है. पीडियाट्रिक सर्जरी के क्षेत्र में उनका 30 वर्षों का योगदान है.

इनपुट : प्रभात खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *