https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

बिहार मे कोरोना बेकाबू हो गया है. रोजाना मरीजों की तादाद में तेजी से वृद्धि हो रही है. गुरुवार को भी सूबे में 478 नए मामले मिले हैं जिससे बिहार में कोरोना मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 10683 हो गया. पटना में 800 से अधिक मामले सामने आये हैं. वहीं, भागलपुर में 500 से अधिक मामले हो गए हैं. मधुबनी और सीवान जिले में 400 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं. इसके आलावा बेगूसराय, मुंगेर, रोहतास, समस्तीपुर और मुजफ्फरपुर जिले में 300 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं !

बिहार में अब तक कोरोना से 78 लोगों की मौत हुई है. सबसे ज्यादा राजधानी पटना में 10 लोगों की मौत हुई है. दरभंगा, रोहतासऔर सारण जिले में 5-5 मरीजों की मौत हुई है. इसके आलावा बेगूसराय, मुजफ्फरपुर और नालंदा 4-4 लोगों ने दम तोड़ा है. भोजपुर, गया, खगड़िया, जहानाबाद, नवादा, सीतामढ़ी, समस्तीपुर और वैशाली में 3-3 लोगों की मौत हुई है. इसके साथ ही पूर्वी चंपारण, मधुबनी और सीवान में 2-2 मरीजों की जान कोरोना से गई है. वहीं, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, भागलपुर, जमुई, कटिहार, किशनगंज, मधेपुरा, मुंगेर, पश्चिमी चंपारण और शिवहर में 1-1 मरीज की मौत हुई है. राहत की बात ये है की राज्य में अबतक 7994 संक्रमित मरीज अबतक स्वस्थ होकर अपने अपने घर लौट चुके हैं. पिछले 24 घंटे में राज्य में 183 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ हुए. फिलहाल डॉक्टरों और स्वस्थ्य कर्मियों ने उन्हें होम क्वारंटीइन में रहने का निर्देश दिया है !

मुजफ्फरपुर मे कल 54 नये संकर्मित मरीज मिले थे सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार शहर के आधे दर्जन से ज्यादा डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव निकले है. जिसमे एक फिजिशियन, एक चाइल्ड स्पेशलिस्ट, एक महिला चिकित्सक सहित कई और डॉक्टर भी है. इसके आलावा कई नर्स और मेडिकल स्टाफ भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए है. वही दूसरी तरफ लंग्स कैंसर से पीड़ित एक महिला की कोरोना के चपेट मे आने से मौत भी हो गयी.  इधर, दस लोग कोरोना की जंग जीतकर वापस घर लौट गए हैं।

मुजफ्फरपुर प्रशासन के मुताबिक अभी जो पॉजिटिव पाए जा रहे हैं वे कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग वाले नही है। रैंडम जांच के क्रम में पॉजिटिव पाए जा रहे है। अभी कोई चेन या सीरीज सामने नहीं आया है। इसलिए इसे कम्युनिटी स्प्रेड नहीं कहा जा सकता है. चेन/सीरीज सामने पाए जाने पर उस सीरीज को ब्रेक करने के लिए कंटेंटमेंट जोन बनाने की नौबत आती है. जो कल 54 मरीज संक्रमित पाए गए हैं उनमें से 43 बैकलॉग है। इन सभी का 10 दिन से अधिक हो चुका है। जो चिकित्सक पॉजिटिव पाए गए हैं उनके कलनिक को बंद कराया जा रहा है। चिकित्सक और उनके स्टाफ के कॉन्टैक्ट को ट्रेस किया जा रहा है। अनुमंडल पदाधिकारी और अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को निर्देशित किया गया है कि सिविल सर्जन से बात कर कंटेंटमेंट जोन के संबंध में रूपरेखा तैयार कर प्रस्तुत करें । जरूरत पड़ने पर कन्टेन्टमेंट जोन बनाया जा सकता है। जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने जिले वासियों से अपील किया है कि पैनिक होने /घबराने की आवश्यकता नही है। सतर्क और सावधान रहने की जरूरत है। मास्क पहने और सोशल डिस्टस्टिंग को जरूर मेंटेन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *