0 0
Read Time:4 Minute, 36 Second

मुजफ्फरपुर, किसी अपराधी के बारे में यह बात की जाए कि वह पितृभक्त है…सत्यवादी है तो सुनने में ही अटपटी लगती है। बिहार का एक अपराधी ऐसा ही है। कम से कम पुलिस की पूछताछ में तो उसने ऐसा ही दावा किया है। मुजफ्फरपुर बैंक लूटकांड के मुख्य आरोपित ने पूछताछ के दौरान अपना अपराध स्वीकार करने के साथ ही साथ यह भी बताया कि इस घटना में उसे जो रुपये मिले वह उसने अपने पिता के खाते में जमा करा दिया है। पुलिस इस खाते से लेनदेन करने पर पहले ही रोक लगवा चुकी है।

विशेष पुलिस टीम काे मिली सफलता

मुजफ्फरपुर के सदर थाना क्षेत्र के गोबरसही स्थित आइसीआइसीआइ बैंक की शाखा से 14 लाख रुपये लूट मामले के मास्टर माइंड हिमांशु कुमार को विशेष पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया है। उसके पास से चरस, मादक पदार्थ, आर्म्स व लूटी गई राशि समेत अन्य सामान जब्त किए गए हैं। पुलिस पदाधिकारियों का कहना है कि पूछताछ में उसने लूट में संलिप्तता स्वीकार करते हुए कई महत्वपूर्ण बातों की जानकारी दी है। उसकी निशानदेही पर टीम कई जगहों पर छापेमारी कर रही है।

दो माह लौटा घर

बताया गया कि लूट की घटना के बाद हिमांशु दूसरे प्रदेश भाग गया। मामला ठंडा पड़ने के बाद वह पिछले दिनों घर आया। इसी बीच विशेष टीम को उसके बारे में सूचना मिली। इसके बाद विशेष टीम के पुलिस पदाधिकारियों ने वाहन जांच के दौरान सदर थाना क्षेत्र के मधुबनी फोरलेन के निकट से दबोच लिया। पुलिस ने उसकी बाइक भी जब्त कर ली है। मालूम हो कि 19 सितंबर 2022 को बाइक सवार अपराधियों ने हथियार के बल पर बैंक में धावा बोल कैश काउंटर से 13 लाख 92 हजार रुपये लूट लिए थे। इसके अलावा दो ग्राहकों के 55 हजार रुपये भी लूटे गए थे। वारदात को अंजाम देकर अपराधी हथियार लहराते हुए भाग निकले थे। घटना के 10 दिन बाद विशेष पुलिस टीम ने लूट में शामिल तीन को गिरफ्तार किया था। उसके पास से लूटे गए साढ़े छह लाख रुपये जब्त किए गए थे।

जेल में रची थी लूट की साजिश

इधर, पुलिस का कहना है कि हिमांशु ने पूछताछ में बताया कि अपने हिस्से की लूट की राशि उसने पिता के बैंक खाते में जमा किया था। इस खाते को पुलिस पहले ही फ्रिज करा चुकी है। बता दें कि जेल में बंद रहने के दौरान हिमांशु ने कांटी इलाके के अपराधियों के साथ मिलकर बैंक लूट की साजिश रची थी। निकलने के बाद लूट को अंजाम दिया था। बाताया जाता है कि आइसीआइसीआइ की उक्त शाखा में पहले भी लूट हो चुकी है। पूर्व में इस मामले में गिरफ्तार लुटेरों में कांटी साइन इलाके के बादल कुमार, विवेक कुमार व सदर थाने के मझौलिया पंचवटी कालोनी के आशीष कुमार सिंह शामिल हैं। बादल के पास से एक नाइन एमएम की देसी पिस्टल, मैगजीन और दो कारतूस, आइसीआइसीआइ बैंक का टैग लगा हुआ स्काई बैग व एक लाख 50 हजार रुपये, विवेक के पास से आइसीआइसीआइ बैंक का टैग लगा पीले रंग का कैरी बैग व 90 हजार रुपये बरामद किए गए थे। हिमांशु उर्फ आयुष्मान के पिता के बैंक खाते में जमा चार लाख रुपये फ्रिज किए गए थे।

इनपुट : दैनिक जागरण

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: