https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

मुजफ्फरपुर, जिलाधिकारी प्रणव कुमार की अध्यक्षता में उनके कार्यालय कक्ष में कोविड-19 टीकाकरण एवं कोरोना एंटीजन टेस्टिंग की अद्धतन स्थिति को लेकर एक समीक्षात्मक बैठक की गई. जिसमें टीकाकरण के सेशन साइट को बढ़ाने, अधिक से अधिक लोगों को कोरोना टीकाकरण से आच्छादित करने, सभी नगर निकायों को निर्धारित तिथि तक कोरोना टीकाकरण से 100 प्रतिशत आच्छादित करने, एंटीजन टेस्ट की संख्या में अपेक्षित वृद्धि करने के मद्देनजर विचार- विमर्श करने के साथ ठोस रणनीति बनाई गई।

बैठक के उपरांत सभी प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारियों एवं प्रखंड के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना टेस्टिंग एवं टीकाकरण को लेकर महत्वपूर्ण निर्देश दिए गए. बैठक में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जानकारी दी गई कि मुजफ्फरपुर नगर निगम (शहरी क्षेत्र) में प्रतिदिन लगभग 6000 व्यक्तियों का टीकाकरण किया जा रहा है। निर्धारित लक्ष्य के विरुद्ध लगभग 92000 व्यक्तियों का टीकाकरण किया जाना बाकी है। टीके की उपलब्धता यदि बनी रही तो 15 से 20 दिनों में इस लक्ष्य को हासिल कर लिया जाएगा।

जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सभी नगर निकाय को प्राथमिकता के आधार पर 100% टीकाकरण से आच्छादित करना सुनिश्चित किया गया. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नगर परिषद यथा- कांटी, मोतीपुर और साहेबगंज के  साथ नवनिर्मित 07 नगर पंचायतों यथा-बरूराज, सरैया, मीनापुर, माधोपुर सुस्ता, मुरौल, सकरा, तुर्की (मुरौल का लक्ष्य हासिल कर लिया गया है) की बारी बारी से समीक्षा की गई। सभी नगर निकायों में टारगेटेड पापुलेशन के विरुद्ध अद्धतन उपलब्धि तथा शेष बचे लक्ष्य की जानकारी प्रदान की गई।

उक्त आलोक में निर्देश दिया गया कि जुलाई के अंतिम सप्ताह में सभी नगर निकायों को 100% कोरोना टीकाकरण से आच्छादित करना सुनिश्चित किया जाय।उक्त आलोक में सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रभारी चिकित्सा प्रभारी के साथ स्वास्थ्य विभाग के जिला स्तरीय पदाधिकारियों, डीपीओ आईसीडीएस ,डीपीएम जीविका, शिक्षा विभाग, कल्याण विभाग,जिला पंचायती राज विभाग को महत्वपूर्ण निर्देश दिया गया कि सभी विभाग आपसी समन्वय के साथ कार्य करते हुए सभी नगर निकायों को निर्धारित तिथि तक 100% आच्छादित करना सुनिश्चित करें।

निर्देश दिया गया कि इस हेतु प्रचार- प्रसार अभियान चलाते हुए लोगों को मोबिलाइज किया जाए. माइक्रो प्लान एवं ठोस रणनीति बनाते हुए लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में प्रभावी कार्य करना सुनिश्चित करें. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना एंटीजन टेस्टिंग की संख्या बढ़ाने के मद्देनजर महत्वपूर्ण निर्देश जिलाधिकारी के द्वारा दिए गए।

शहरी क्षेत्र के साथ सभी प्रखंडों के लिए लक्ष्य निर्धारित किए गए। औराई, कांटी, कटरा, कुढ़नी, मीनापुर मोतीपुर, मुशहरी, पारू, साहेबगंज,सकरा, सरैया प्रखंडों में प्रतिदिन न्यूनतम 400 टेस्ट करने का लक्ष्य दिया गया है। शेष प्रखंड में प्रतिदिन न्यूनतम 300 का लक्ष्य दिया गया है। शहरी क्षेत्र का लक्ष्य 2000 प्रतिदिन है। इस तरह कोरोना टेस्टिंग को लेकर जिले का प्रतिदिन का लक्ष्य न्यूनतम 8000 निर्धारित किया गया। जिलाधिकारी ने इसके साथ यह भी निर्देश दिया कि किए गए टेस्टिंग का डाटा अपलोडिंग का कार्य समानांतर रूप से करना जारी रखें ताकि बैकलॉग की समस्या का सामना नहीं करना पड़े।

बैठक में उप विकास आयुक्त डॉ सुनील कुमार झा, सहायक समाहर्ता श्रेष्ठ अनुपम, सिविल सर्जन मुजफ्फरपुर डॉक्टर विनय कुमार शर्मा, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ एके पांडे, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी कमल सिंह, जिला पंचायती राज पदाधिकारी मोहम्मद फैयाज अख्तर, डब्ल्यू एच ओ के प्रतिनधि डॉ आनंद गौतम,डीपीओ आईसीडीएस चांदनी सिंह, डीपीएम जीविका अनीशा, यूनिसेफ के प्रतिनिधि चंद्र भूषण कुमार के साथ जय शंकर कुमार ,संजीव सिंह एवं अन्य पदाधिकारी तथा अन्य संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *