गणेश चतुर्थी और मुहर्रम पे लागू होंगे प्रशासन के सख्त नियम, जान ले नियम

0 0
Read Time:5 Minute, 37 Second

जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर की अध्यक्षता में आगामी गणेश चतुर्थी एवं मोहर्रम पर्व को लेकर जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक  समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में आहूत की गई। बैठक में वरीय पुलिस अधीक्षक मुजफ्फरपुर  जयंतकांत सहित दोनों अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ,शांति समिति के सदस्य गण के साथ जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में पूर्व के भांति इस वर्ष भी आगामी मुहर्रम एवं एवं गणेश चतुर्थी पर्व आपसी भाईचारा एवं सौहार्द के साथ मने इस बाबत विचार विमर्श किया गया।बैठक में शांति समिति के सदस्यों ने बारी-बारी से अपनी बात रखीं. साथ ही महत्वपूर्ण सुझाव भी उनके द्वारा दिए गए. कोरोना महामारी को देखते हुए सरकार द्वारा निर्धारित गाइडलाइन का अक्षरशः पालन कराने का आश्वासन सभी सदस्यों और राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों द्वारा दिया गया। सभी सदस्यों ने एक स्वर में प्रशासन को आश्वस्त भी किया कि शांति समिति के सदस्य जिले में शांति और अमन /आपसी सौहार्द के साथ आगामी मुहर्रम /गणेश चतुर्थी पर्व के आयोजन में अपना पूरा सहयोग देंगे. साथ ही कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए गणेश चतुर्थी और मुहर्रम पर्व में घरों में रहकर ही पूजा/इबादत की बात पर पूरी सहमति जताई।

मुजफ्फरपुर जिलाधिकारी ने कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए मोहर्रम एवं गणेश चतुर्थी पर्व को शांति एवं सौहार्द पूर्ण तरीके से मनाने के लिए सरकार ने गाइडलाइन जारी किया है। अतः उक्त गाइडलाइन का अक्षरशःपालन कराया जाएगा। कहा कि गणेश चतुर्दशी एवं मुहर्रम पर्व के दौरान सार्वजनिक स्थल पर किसी प्रकार का धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं होगा. इसके अलावा सार्वजनिक स्थलों पर कोई प्रतिमा स्थापित नहीं की जाएगी। वहीं त्योहार के दौरान झांकी एवं ताजिया निकालने पर भी पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा. उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा प्रशासन के दिशा – निर्देशों का अनुपालन नहीं करने वाले के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। कहा कि आपसी सौहार्द और भाईचारा में खलल डालने वाले तत्वों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट को देखते हुए अनुरोध भी किया कि सभी श्रद्धालु अपने घरों में ही त्योहारों की परंपरा का निर्वहन करें।

एसएसपी जयंतकांत ने भी सहयोग की अपेक्षा की और कहां की हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी आपके सहयोग से आगामी पर्व/ त्योहारों को शांतिपूर्ण सौहार्दपूर्ण तरीके से मनाने में हम सफल होंगे। उन्होंने कहा कि मुहर्रम के दिन किसी भी अखाड़े से ताजिया जुलूस नहीं निकाला जाएगा। साथ ही शस्त्र प्रदर्शन के अलावा डीजे एवं लाउडस्पीकर बजाने पर भी पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा।एसएसपी जयंतकांत ने कहा कि गणेश चतुर्थी एवं मुहर्रम के मद्देनजर जिला प्रशासन की ओर से जारी दिशा निर्देशों का सख्ती से पालन कराया जाएगा। बैठक में उपस्थित पुलिस पदाधिकारियों को उन्होंने निर्देशित किया है कि मोटरसाइकिल सवारों पर विशेष नजर रखी जाए शहरों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों की भी सतत निगरानी की जाए. उन्होंने स्पष्ट कहा कि किसी भी सूरत में सरकार द्वारा निर्गत दिशा निर्देश का अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा। अफवाहों से बचने की भी बात कही। साथ ही अनुरोध किया कि शांति समिति के सदस्य जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के साथ संवाद स्थापित करते रहेंगे। उन्होंने स्पष्ट कहा कि अफवाह फैलाने वाले और माहौल को दूषित करने वाले शरारती तत्वों पर पुलिस प्रशासन की पैनी नजर बनी हुई है।

बैठक में जिला परिषद अध्यक्ष इंदिरा देवी, केपी पप्पू, अब्दुल माजीद, वसी-उल-उल हक रिजवी, इरशाद हुसैन गुड्डू, इरफान अहमद दिलकश, प्रोफेसर शब्बीर अहमद, संजय केजरीवाल, मोतीलाल छाबड़िया, शंकर महतो संतोष कुमार ,परवेज अख्तर ,रियाज अहमद तनवीर आलम तथा अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
92%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
8%
1 Star
0%

174 thoughts on “गणेश चतुर्थी और मुहर्रम पे लागू होंगे प्रशासन के सख्त नियम, जान ले नियम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: