0 0
Read Time:4 Minute, 4 Second

मुजफ्फरपुर, बोचहां विधायक बेबी कुमारी ने तीन दिन पहले भरी प्रेस कांफ्रेंस में रो रो कर बीजेपी को धोखेबाज और मुकेश सहनी को टिकट बेचने वाला बताई थी. लेकिन रविवार को विधायक बेबी कुमारी यू टर्न मार गयी. बेबी कुमारी ने आज बीजेपी नेताओं के साथ प्रेस कांफ्रेंस कर पार्टी को अपनी मां बता दिया. बेबी बोलीं, मां कभी बच्चे के साथ अन्याय कर ही नहीं सकती.

आपको बता दे की तीन दिन पहले बेबी कुमारी ने मुजफ्फरपुर में प्रेस कांफ्रेंस बुलायी. वहां मीडियाकर्मियों के सामने फूट फूट कर रोयीं. बेबी कुमारी ने कहा “BJP ने एक दलित की बेटी के साथ बहुत बड़ी धोखाधड़ी की. बीजेपी के नेता मुझे रोज कहते रहे कि गठबंधन टूट जायेगा लेकिन टिकट उन्हें ही मिलेगा. लेकिन ये सीट वीआईपी पार्टी को दे दिया गया. वीआईपी पार्टी के मुकेश सहनी ने ये सीट 3 करोड़ 8 लाख रूपये में बेच दिया. मुकेश सहनी में मेरी जाति का भी अपमान किया.” इस प्रेस कांफ्रेंस में ही बेबी कुमारी ने लोक जनशक्ति पार्टी से चुनाव लड़ने का एलान कर दिया. हालांकि एक दिन पहले ही वे पटना में चिराग पासवान के घर जाकर लोक जनशक्ति पार्टी का सिम्बल ले आयी थीं. लेकिन ड्रामा एक दिन बाद प्रेस कांफ्रेंस करके किया.

लेकिन असली खेल रविवार को हुआ. बेबी कुमारी बीजेपी के प्रदेश कार्यालय में पहुंच गयीं. वहां बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल के साथ प्रेस कांफ्रेंस किया और फिर कहा कि बीजेपी उनकी मां है. कोई मां कैसे किसी बच्चे के साथ अन्याय कर सकती है. इसलिए वे लोजपा से चुनाव नहीं लड़ेंगी और सिम्बल वापस कर दिया है. बेबी कुमारी ने कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में जो विकास के कार्यक्रम हो रहे हैं उसको गति देने तथा इसे जन-जन तक पहुंचाने में अपनी ताकत लगाऊंगी। इस चुनाव में वह एक कार्यकर्ता के रूप में पूरे मुजफ्फरपुर में एनडीए के पक्ष में चुनाव प्रचार करेंगी। इसके साथ ही यदि पार्टी का निर्णय होगा तो वह पूरे प्रदेश में भी एनडीए के लिए काम करेंगी। कहा, मैं भाजपा की सिपाही हूं और सेवा का संकल्प लिया है। आगे जो भी जवाबदेही दी जाएगी उसके अनुसार आगे काम करूंगी। मैं पार्टी के साथ हूं और रहूंगी। जनता के हर सुख दुख में निरंतर काम करती रही हैं आगे भी करेंगी।

बीजेपी सूत्रों की मानें तो बेबी कुमारी को एडजस्ट करने का भरोसा दिलाया गया है. उन्हें ऐसा ऑफर दिया गया है कि वे सारा रोना-धोना भूल गयीं. अब बीजेपी ने इसे अपनी बडी उपलब्धि मान रही है. बिहार चुनाव में बीजेपी के दर्जनों नेता लोजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. उन सबों को समझाने-मनाने की पूरी कोशिश हुई लेकिन पहली दफे ऐसा हुआ कि कोई वापस लौट कर आया है.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: