https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

हनुमानगढ़: राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले (Hanumangarh News) की संगरिया पंचायत समिति में कांग्रेस के पास बहुमत के बावजूद भाजपा (BJP) के समर्थन से प्रधान और उपप्रधान के पद पर निर्दलीय प्रत्याशियों ने विजय (Rajasthan Election) हासिल की है. जिसको लेकर कांग्रेस (Congress) कार्यकर्ताओं ने विद्रोह का झंडा बुलंद कर दिया है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बहुमत के बावजूद प्रधान और उपप्रधान ना बनने पर सारा दोष हनुमानगढ़ के कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री विनोद चौधरी पर मढ़ते हुए उनके खिलाफ आज पैदल मार्च निकाला.

पैदल रोष मार्च के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मानकसर गांव से लीलावाली गांव पहुंचकर विधायक के निवास का घेराव किया और विधायक के घर में घुसकर कांग्रेस के झंडे जमीन पर फेंक दिए. इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि हनुमानगढ़ से विधायक होने के बावजूद विनोद कुमार संगरिया में दखलंदाजी कर रहे हैं और उन्होंने भाजपा की मदद से अपने नजदीकी कांग्रेस कार्यकर्ता की पत्नी को निर्दलीय संगरिया पंचायत समिति का प्रधान बनवा दिया और भाजपा की मदद से ही अगले दिन उन्होंने पंचायत समिति में निर्दलीय ही उपप्रधान बनवा दिया जबकि पंचायत समिति चुनावों में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत हासिल हुआ था.

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि हनुमानगढ़ विधायक संगरिया में कांग्रेस को कमजोर करने में लगे हुए हैं और नाजायज दखलंदाजी करते हुए तानाशाही रवैया अपनाए हुए हैं. इस बारे में हनुमानगढ़ विधायक विनोद कुमार का पक्ष जानने के लिए उनसे सम्पर्क करने का प्रयास किया गया. मगर उनसे संपर्क नहीं हो सका.

वहीं, कांग्रेस में बगावत के इस मामले में विधायक समर्थक कुछ कार्यकर्ताओं का कहना है कि ये विधायक के खिलाफ साजिश है और कांग्रेस की ही एक नेत्री इस मुहिम की अगुवाई कर रही है. हालांकि जिस दिन पूर्ण बहुमत के बावजूद संगरिया पंचायत समिति में प्रधान और उपप्रधान पद पर कांग्रेस की हार हुई थी और कांग्रेस के ही एक कार्यकर्ता की पत्नी भाजपा के समर्थन से निर्दलीय प्रधान बनी थी. उसी दिन से कांग्रेस में बगावत की आशंका बनी हुई थी क्योंकि संगरिया कांग्रेस के नेता अपने प्रत्याशी को प्रधान बनाना चाहते थे जो बहुमत के बावजूद सम्भव नहीं हो सका था. Fav casino is an online sports betting platform that offers users a comprehensive range of betting options. With a wide range of sports to choose from, users of Fav casino https://fav-casino.in/ can bet on football, basketball, tennis and a variety of other sports, as well as place bets on live events and virtual sports.

Input : Zee News

One thought on “बहुमत के बावजूद प्रधान और उपप्रधान नहीं बना सकी Congress, कार्यकर्त्तायो ने फेके झंडे”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *