बिहार के मुजफ्फरपुर में एक अनियंत्रित ट्रक ने स्कूल जा रहे हैं शिक्षक को कुचल डाला। जिसके बाद लोगों ने जमकर हंगामा किया बवाल किया। भीड़ ने पुलिस के एक जीप को आग के हवाले कर दिया जिसमें गाड़ी धू धू कर जल गई। हंगामा के बाद एसपी जयंत कांत के नेतृत्व में पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ दिया। इस दौरान काफी समय तक सड़क जाम रहा।

मृतक की पहचान हथौरी थाना के नरमा निवासी शिक्षक आलोक कुमार के रूप में हुई है । घटना अहियापुर थाना क्षेत्र के झपहा में एनएच 57 की है।

जानकारी के मुताबिक शिक्षक आलोक कुमार मीनापुर के राघोपुर पंचायत में पोस्टेड थे। आलोक स्कूल जाने के लिए घर से निकले थे इसी दौरान NH-77 पर ट्रक ने गाड़ी समेत उन्हें रौंद दिया।

मौके पर पहुंची पुलिस पर हमला

घटना के बाद स्थानीय लोग सड़क जाम कर हंगामा करने लगे। सूचना मिलने पर अहियाहापुर थाना की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो भीड़ ने पुलिस का जबरदस्त विरोध कर हंगामा तेज़ कर दिया। भीड़ में शामिल उपद्रवियों ने पुलिस पर हमला कर दिया जिससे गाड़ी छोड़कर पुलिस बाहर निकल गई। उसके बाद उपद्रवियों ने उसे आग के हवाले कर दिया।

लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ा

सूचना मिलने पर एसएसपी जयंत कांत के नेतृत्व में बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंची और लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ दिया। सिटी डीएसपी रामनरेश पासवान और डीेसपी पूर्वी मनोज पांडे के नेतृत्व में पुलिस मौके पर कैंप कर रही है।

आरोप, पुलिस ने मृतक के परिजनों को भी पीटा

इस बीच मृतक के परिजनों ने पुलिस द्वारा लाठी से पीछे जाने का आरोप लगाया है। मृतक की एक बहन ने रोते हुए बताया कि लाश के साथ बैठे परिजनों को भी पुलिस ने बहुत पीटा है। बहन ने कहा कि पुलिस लड़कियों की भी इज्जत नहीं करती है। वे लोग शांत बैठे थे और उनपर लाठी चार्ज कर दिया गया।

एसएसपी ने कहा

इधर एसपी जयंत कांत ने बताया कि हंगामा कर रहे लोगों पर कार्रवाई की गई है। सात आठ लोगों को हिरासत में लिया गया है। उनकी पहचान की जा रही है दोषियों को चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी।

मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया गया है। पुलिस ने सड़क जाम हटाकर आवागमन को शुरू करवा दिया है।

Input : live hindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *