https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

मुजफ्फरपुर से खादी वर्दी की कारस्तानी की खबर आ रही है। यहां एक सिपाही पर ही महिला की अश्लील तस्वीरें खींचने और वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया है। सिपाही से परेशान महिला ने उसकी बातें रिकॉर्ड की और मीडिया को जारी कर दी। आरोपी सिपाही अहियापुर थाने में तैनात है।

पीड़िता के अनुसार पुलिस ने बाइक चोरी के आरोप में उसके घर पर छापेमारी की थी। पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसी दौरान वह बच्चे को लेकर अस्पताल जाने के लिए कपड़े बदलने लगी। सिपाही कपड़े बदलते हुए उसकी तस्वीरें खींच लीं। उन्हीं तस्वीरों को वायरल करने की धमकी देने लगा।

पीड़िता ने कहा कि सिपाही रविरंजन के बारे में अहियापुर थानेदार सुनील रजक से शिकायत की थी, लेकिन उन्होंने कोई मदद नहीं की। आरोपी सिपाही पीड़िता के वॉट्सएप पर भी मैसेज करता था। उसने उसकी तस्वीर भी भेजी थी और कुछ अश्लील बातें लिखी थीं, लेकिन फिर इसे डिलीट कर लिया था। पीड़िता ने इसका स्क्रीन शॉट लिया, लेकिन तब तक वह चैट डिलीट कर चुका था। हालांकि, कुछ मैसेज अभी भी वॉट्सएप पर सुरक्षित हैं।

पीड़िता को धमकी भी दी

सिपाही ने मोबाइल पर महिला से जो बात की है, उसमें कहा कि थाना के बाहर आना। अकेले ही आना। चालाकी मत करना, वरना हमसे बुरा कोई नहीं होगा। जब महिला ने पूछा कि वहां आने से क्या होगा। इस पर आरोपित ने कहा कि आओगी तब बताएंगे। तुम्हें कुछ देना होगा, फोटो डिलीट करने के लिए। महिला ने कहा कि क्या देना होगा पैसे? उसने कहा कि आने के बाद बताएंगे। वहीं, अहियापुर थानेदार सुनील रजक का कहना है कि महिला के आरोप निराधार हैं। रविरंजन ने ही उसके पति को गिरफ्तार कर जेल भिजवाया था। इसलिए उसे फंसा रही है।

Source: Live Hindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *