भारत में पहली बार कोरोना मरीज के शव का पोस्टमॉर्टम, देश में कोविड-19 के मामले 27 लाख के पार

1 0
Read Time:2 Minute, 1 Second

कोरोना वायरस इंसान के शरीर पर किस तरह हमला करता है? यह शरीर में कितने लंबे समय तक रहता है? अब मिलेंगे ढेर सारे ऐसे सवालों का जवाब, क्यों की संक्रमित मरीज के शव का पोस्टमार्टम करने के लिए मिली आईसीएमआर की अनुमति, हालांकि पहले संक्रमण के खतरे को देखते हुए अनुमति नहीं दी गयी थी. लेकिन जब संक्रमण से बचने के उपाय के साथ पोस्टमॉर्टम के एडवांस तकनीक की जानकारी भोपाल एम्स ने आईसीएमआर को भेजी, तब मंजूरी मिल सकी. वैज्ञानिकों का मानना है कि संक्रमित मरीज के शव का पोस्टमार्टम करने से कोरोना के असर अच्छे से समझा जा सकता है. रविवार को देश में पहली बार किसी कोरोना संक्रमित मरीज के शव का पोस्टमॉर्टम किया गया है. भोपाल एम्स में ये पोस्टमॉर्टम रिसर्च के उद्देश्य से किया गया है. भोपाल एम्स का कहना है कि ऐसे ही और संक्रमित मरीज के शवों का पोस्टमार्टम किया जाएगा, इसके बाद रिसर्च होगी और फाइनल रिपोर्ट जारी की जाएगी.

देश में कोरोना संक्रमण के 55,079 नए मामले सामने आने के बाद, संकर्मितो का आंकड़ा 27 लाख के पार कर गया. वही अब तक 19,77,779 लाख लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. पिछले 24 घंटे में 876 और लोगों की जान जाने के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 51,797 हो गई है. देश मे एक्टिव मामलो की संख्या अभी 6,73,166 है. देश में मृत्यु दर अब 1.92 प्रतिशत है !

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

2 thoughts on “भारत में पहली बार कोरोना मरीज के शव का पोस्टमॉर्टम, देश में कोविड-19 के मामले 27 लाख के पार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: