0 0
Read Time:9 Minute, 3 Second

बिहार पटना समेत कई जिलों में आंधी पानी ने कहर ढाया है। अब तक दस से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। बांका में पंजवारा-धोरैया स्टेट हाईवे 84 मुख्य मार्ग पर पंजवारा पैक्स गोदाम के पास तेज आंधी से सड़क के बीचोबीच लगाया गया पथ प्रदर्शक बोर्ड बीच सड़क पर गिरने से मुख्य मार्ग जाम हो गया। वैशाली और मुंगेर में दो-दो, बांका, जमुई, कटिहार, किशनगंज, जहानाबाद, सारण, नालंदा व बेगूसराय में एक-एक की मौत हो गई। एनएच और रेलवे ट्रैक पर तार व पेड़ गिरने से सड़क व रेल यातायात बाधित रहा। सहरसा में ओएचई तार टूटने से तीन घंटे ट्रेनों का परिचालन ठप रहा।

बांका में पंजवारा-धोरैया स्टेट हाईवे 84 मुख्य मार्ग पर पंजवारा पैक्स गोदाम के पास तेज आंधी से सड़क के बीचोबीच लगाया गया पथ प्रदर्शक बोर्ड बीच सड़क पर गिरने से मुख्य मार्ग जाम हो गया। गोपालगंज में धूल भरी तेज़ आंधी तूफान से मौसम का मिज़ाज़ बदल गया। बूंदाबांदी भी हुई।

दोपहर बाद करीब साढ़े तीन बजे पटना का मौसम अचानक बदल गया. तेज धूप और उमस से परेशान लोगों ने जहां राहत की सांस ली, वहीं तेज धूल भरी आंधी से राहगीर और बाजार के लोग परेशान हो गये। करीब 60 किमी की रफ्तार से चली इस धूल भरी आंधी के कारण कुछ देर के लिए अंधेरा छा गया। पटना संग्रहालय का एक पेड़ सड़क पर गिर गया, जिसके कारण यातायात बाधित रही।

वहीं धूलभरी आंधी के कारण अस्थावां थाना क्षेत्र के देशना रोड में तार का पेड़ महिला के ऊपर गिरा। इस हादसे में महिला की मौत हो गयी। तेज आंधी के कारण गंगा में नाव के पलट जाने की सूचना है। जानकारी के अनुसार मनेर के रतनपुरा में गंगा नदी में उठे बवंडर के दौरान बालू लदे तीन नाव पलट जाने की खबर है। इस हादसे में किसी के हताहत होने की सूना नहीं है। नाव पर सवार मजदूर तैर कर बाहर आ गये हैं। नाव रतन टोला में बालू लोड कर पहलेजा सोनपुर की ओर जा रही थी।

पूर्वी बिहार के जिलों में गुरुवार दोपहर बाद आयी आंधी-बारिश में सात लोगों की जान चली गयी। मृतकों में तीन लखीसराय के, भागलपुर के दो जबकि मुंगेर व बांका का एक-एक व्यक्ति शामिल है। इस दौरान सड़क पर पेड़ और होर्डिंग गिरने से जहां कुछ जगहों पर यातायात बाधित रहा वहीं लखीसराय में बिजली तार टूटने से एक घंटा तक रेल सेवा बाधित रही। भागलपुर से जमालपुर के बीच रेल पटरी व बिजली तार पर पेड़ गिरने से ट्रेन सेवा बाधित हो गयी है।

लखीसराय जिले में आंधी-बारिश से दो लोगों की मौत हो गयी, जबकि तीन लोग घायल हो गए हैं। चानन में पेड़ गिरने से उससे दबकर एक महिला की मौत हो गयी। मृतका मलिया निवासी अनीता देवी (40) थी। बड़हिया में ठनका गिरने से एक बालक विवेक कुमार (10) की मौत हो गयी जबकि मेदनीचौकी के बुनबुना टाल में भैंस चराने के दौरान ठनका की चपेट में आने से पीरीबाजार के एक व्यक्ति की मौत हो गयी। सूर्यगढ़ा व हलसी में अलग-अलग जगहों पर तीन लोग आंधी में क्षतिग्रस्त हुए सामान की चपेट में आने से घायल हो गए। वहीं चानन प्रखंड अंतर्गत मननपुर में इलेक्ट्रिक ट्रेन का तार क्षतिग्रस्त होने से वंशीपुर स्टेशन पर करीब एक घंटे तक सुपर एक्सप्रेस ट्रेन रुकी रही। वहीं मुंगेर जिले के खड़गपुर के दरियापुर में आंधी में दीवार गिरने से उससे दबकर एक व्यक्ति की मौत हो गई। संग्रामपुर में आंधी में पेड़ गिरने से सड़क जाम हो गया।

जमुई जिले में आंधी के दौरान कई जगहों पर होर्डिंग गिर गए हालांकि अभी तक किसी प्रखंड से जानमाल की क्षति के नुकसान नहीं है। ग्रामीण क्षेत्रों में कुछ जगहों पर तार टूटने से बिजली बाधित है। खगड़िया जिले में तेज आंधी व बारिश बिजली की आपूर्ति ठप हो गई। गोगरी में बीएसएनएल का टावर गिरने से एक महिला घायल हो गई। मड़ैया व परबत्ता सड़क में क़ई जगहों पर पेड़ गिरने से आवागमन ठप हो गया।

बांका में जिले में आंधी के दौरान पंजवारा-धोरैया स्टेट हाईवे 84 मुख्य मार्ग पर पंजवारा पैक्स गोदाम के पास सड़क के बीचोबीच लगाया गया पथ प्रदर्शक बोर्ड गिर गया। इससे सड़क जाम हो गया। बांका के कटोरिया के करडा गांव में वज्रपात से एक व्यक्ति की मौत हो गयी। मृतक करडा गांव का लालधारी यादव था। वहीं बेलहर में ओलावृष्टि के कारण आम व लीची की फसल को नुकसान पहुंचा है। इधर भागलपुर जिले में आंधी बारिश के दौरान कई जगहों पर पेड़ सड़क पर गिर गये हैं। भागलपुर से जमालपुर के बीच रेल पटरी और बिजली के तार पर पेड़ गिरने से ट्रेनों का परिचालन बाधित हो गया है। कई ट्रेनें विभिन्न स्टेशनों पर रुकी हुई हैं। भागलपुर शहर की बिजली काट दी गयी है। नाथनगर में आंधी के दौरान आम चुनने के दौरान पेड़ गिरने से उससे दबकर दो बच्चों की मौत हो गयी।

मुजफ्फरपुर में आंधी-बारिश से भारी तबाही, तीन की मौत
मुजफ्फरपुर में गुरुवार शाम करीब चार बजे अचानक मौसम ने करवट ली। आंधी के साथ तेज बारिश हुई। इसमें कई जगह पेड़ घरों पर गिर गए, जिससे दो महिला समेत तीन लोगों की मौत हो गई। आधा दर्जन से अधिक लोगों के घायल होने की सूचना है। आंधी के कारण आम व लीची को भी काफी नुकसान हुआ है। पेड़ व फलों से लदी डालियां टूट गई। घने बादल के कारण कुछ देर के लिए अंधेरा छा गया था।

आंधी-बारिश के दौरान पारू में दो व साहेबगंज में एक की मौत हुई है। पारू के मदन छपरा गांव में विशेश्वर सिंह उर्फ जोका सिंह के घर पर पेड़ गिर गया जिसमें दबकर उसकी पत्नी राजमती देवी (50) की मौत हो गई। पारू के ही केशोपुर बभनगांव में झोपड़ी पर बड़ा पेड़ गिर गया। झोपड़ी में दबकर प्रिया कुमारी (17) की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे में उसके दादा हरदेव राम जख्मी हो गए। साहेबगंज के दियारा के बंगरा निजामत में एक बड़ा सेमल का पेंड़ गिरा जिसकी चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई।

इधर, औराई में बांध पर बसे विस्थापितों की झोपड़ियां उड़ गई। इसमें कई लोगों के घायल होने की सूचना है। दूसरी ओर दिनभर तेज धूप व उमस भरी गर्मी से परेशान लोगों को बारिश के बाद राहत मिली है। डॉ० राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के अनुसार करीब 22 एमएम बारिश हुई है।

Input : live hindustan

Advertisment

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: