बाढ़-बारिश और भूस्खलन से उत्तराखंड में त्राहिमाम, अब तक 47 लोगों की गई जान, कई इलाकों का संपर्क टूटा

0 0
Read Time:5 Minute, 0 Second

Uttarakhand Rain and Weather Update: उत्तराखंड में बारिश, भूस्खलन और अचानक आई बाढ़ की वजह से तबाही का भयानक मंजर देखने को मिल रहा है. राज्य के कई हिस्सों में आई इस प्राकृतिक आपदा में मरने वालों का आंकड़ा 47 तक पहुंच गया है. अकेले नैनीताल में 25 लोगों की मौत हुई है. वहीं, तमाम लोग लापता हैं. उत्तराखंड में आसमान से आफत ऐसे बरसी की हर तरफ दहशत का माहौल है.

भूस्खलन और बादल फटने की वजह से जो सैलाब आया, उसमें फंसे लोगों को निकालने की कोशिश जारी है. जानकारी के मुताबिक, कुमाऊं में पानी का स्तर कम हो रहा है लेकिन रास्ते खुलने में अभी वक्त लगेगा. बारिश-बाढ़ के कारण कई इलाकों का संपर्क टूट गया है. बड़ी संख्या में लोग जगह-जगह फंसे हुए हैं. SDRF और NDRF के साथ पुलिस की टीमें भी लोगों के रेस्क्यू में जुटी हैं.

राज्य में राहत और बचाव कार्यों में मदद के लिए भारतीय वायु सेना के तीन हेलीकॉप्टर को लगाया गया. इनमें से दो को नैनीताल जिले में तैनात किया गया है, जो बादल फटने और भूस्खलन की घटनाओं से बुरी तरह प्रभावित हुआ है. जिन स्थानों पर भूस्खलन हुआ है, वहां सड़कों से मलबा हटाने का काम जारी है.

रामनगर में आर्मी के हेलीकॉप्टर की मदद से दो दर्जन से ज्यादा गांव वालों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा चुका है. पंतनगर में तीन जगहों पर फंसे 25 लोगों को रेस्कयू करने के लिये वायु सेना को ध्रुव हेलीकॉप्टर की मदद लेनी पड़ी. कई भूस्खलनों के कारण नैनीताल तक जाने वाली सड़कों पर मलबा आने की वजह से पर्यटक स्थल का राज्य के बाकी हिस्सों से संपर्क टूट गया है.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लोगों से न घबराने की अपील करते हुए कहा कि उन्हें सुरक्षित बाहर निकालने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं. साथ ही चार धाम यात्रियों से फिर अपील करते हुए कहा कि वे मौसम में सुधार होने तक जहां हैं, वहीं रुके रहें.

उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार के अनुसार, हजारों लोगों को अब तक सुरक्षित बाहर निकाला जा चुका है. वहीं, गढ़वाल में हालात कुछ सुधरे हैं. बंद रास्तों को एक बार फिर धीरे-धीरे खोला जा रहा है. चार धाम यात्रा भी जल्द ही शुरू होने की उम्मीद है.

हालात की समीक्षा के लिए अमित शाह का उत्तराखंड दौरा

गृहमंत्री अमित शाह आज (बुधवार) शाम को बाढ़-बारिश से बिगड़े हालात की समीक्षा के लिए उत्तराखंड जाएंगे. वहीं, कल यानी गुरुवार को बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे करेंगे.

मृतकों के परिजनों को 4 लाख का मुआवजा देगी सरकार
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य के कुमाऊं और गढ़वाल क्षेत्रों में भारी बारिश से प्रभावित लोगों से मंगलवार को मुलाकात की और आपदा में जान गंवाने वाले व्यक्तियों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की. मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि संकट की इस घड़ी में लोगों को धैर्य बनाए रखने की जरूरत है.

बता दें कि भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु समेत देश के अन्य हिस्सों से भी बारिश की खबरें हैं. मौसम विभाग (IMD) ने पूर्व और पूर्वोत्तर भारत में आज यानी बुधवार तक तेज बारिश का पूर्वानुमान जताया है.

इनपुट : आज तक

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Previous post मुजफ्फरपुर के सरैया में फूड प्वाइजनिंग से एक की मौत, 30 बीमार
Next post कोरोना मुक्त हो गया अपना मुजफ्फरपुर, वर्तमान में इसका एक भी एक्टिव केस नहीं

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: