https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

Sidhu Moose Wala Murder case: पंजाबी गायक और कांग्रेस नेता सिद्धू मूसेवाला की रविवार को गोली मारकर हत्या कर दी गई है. इस मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. बताया जा रहा है कि Raw समेत अन्य भारतीय खुफिया एजेंसियों ने सिद्धू मूसेवाला को जान का खतरा बताया था. खुफिया एजेंसियों ने मूसेवाला के अलावा पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी को भी जान का खतरा बताया था. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि पंजाब पुलिस ने Raw समेत अन्य भारतीय खुफिया एजेंसियों की चेतावनी को दरकिनार करके सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा बढ़ाने के बजाय कम क्यों कर दी?

पंजाबी सिंगर और कांग्रेसी नेता शुभदीप सिंह उर्फ सिद्धू मूसेवाला की हत्या 29 मई को मानसा जिले में उनके घर से कुछ किलोमीटर दूर ही कर दी गई थी. उनकी कार पर करीब 30-40 राउंड फायर हुए थे. इसमें से 8 गोलियां सिद्धू को लगी थीं. सिद्धू के साथ उनके दो दोस्त थे जो घायल हो गए थे. उधर, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा है कि पंजाब सरकार पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से अनुरोध करेगी कि मामले की जांच उच्च न्यायालय के मौजूदा न्यायाधीश से कराएं.

एक दिन पहले ही कम की गई थी सुरक्षा

बताया जा रहा है कि पंजाब सरकार की ओर से हाल ही में मूसेवाला की सुरक्षा कम की गई थी. उधर, पंजाब पुलिस ने माना है कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या गैंगवार में हुई है. सिद्धू की सुरक्षा कम जरूर की गई थी, लेकिन हटाई नहीं गई थी. सरकारी सुरक्षा के अलावा सिद्धू का अपना निजी सुरक्षा दस्ता भी था. इसके अलावा घटना के दिन मूसेवाला जब घर से बाहर निकले तो ना सरकारी सुरक्षाकर्मियों को साथ लिया, ना निजी सुरक्षा गार्ड साथ में थे और ना ही बुलेटप्रूफ कार पर सवार हुए.

सीएम मान ने दिए जांच के आदेश

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा कम करने के फैसले की जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने डीजीपी के कल के बयान पर भी सफाई मांगी है. उन्होंने कहा, राज्य सरकार जांच में पूरा सहयोग करेगी, किसी भी अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा.

लॉरेंस बिश्नोई गैंग ने ली हत्या की जिम्मेदारी

मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी लॉरेंस बिश्नोई गैंग के सदस्य लक्की ने ली है. लेकिन इस मर्डर को लेकर नया खुलासा हुआ है. बताया जा रहा है कि सिद्धू की हत्या की साजिश दिल्ली की तिहाड़ जेल में रची गई थी. दरअसल, लॉरेंस बिश्नोई ने वर्चुअल नंबरो से विदेश में मौजूद गोल्डी बरार से कई बार बात की थी. तिहाड़ जेल में बंद लॉरेंस बिश्नोई से पंजाब पुलिस पूछताछ करेगी. पंजाब पुलिस लॉरेंस को रिमांड पर ले सकती है. लारेंस बिश्नोई तिहाड़ की जेल नम्बर 8 की हाई सिक्योरिटी जेल में बंद है. वह जेल से ही गैंग को ऑपरेट करता है.

‘सिद्धू को लगातार मिल रही थीं धमकियां’

मूसेवाला के पिता बलकौर सिंह ने भी दावा किया है कि उनके बेटे को गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई की गैंग की तरफ से धमकियां मिल रही थीं और फिरौती मांगी जा रही थी. पिता के मुताबिक, मूसेवाला को कई बार फिरौती के लिए धमकी भरे फोन आए थे. पिता बलकौर सिंह ने कहा कि धमकियों की वजह से परिवार ने बुलेटप्रूफ फॉर्चूनर कार भी खरीदी हुई थी. लेकिन रविवार को सिद्धू अपने दो दोस्तों (गुरविंदर सिंह और गुरप्रीत सिंह) के साथ थार कार से कहीं निकला था. पिता ने बताया कि बुलेटप्रूफ कार और गममैन दोनों को ही सिद्धू घरपर छोड़ कर गए थे.

इनपुट : आज तक

Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *