किसान नेताओं ने “भारत बंद” का समर्थन करने वाले राजनितिक दलों को दी ये सख्त हिदायत

0 0
Read Time:4 Minute, 35 Second

नए कृषि कानूनों पर किसानों की तरफ से 8 दिसंबर को देशव्यापी भारत बंद बुलाया गया है. इस बंद का कांग्रेस के अलावे देशभर के 11 राजनीतिक दलों ने अपना समर्थन दिया है. ऐसे में सोमवार को किसानों की तरफ से उन राजनीतिक दलों को हिदायत दी गई है, जिन्होंने किसान के शांतिपूर्ण प्रदर्शन का समर्थन किया है. किसानों की तरफ से ऐसे राजनीति दलों को तरफ से साफतौर पर कहा गया है कि वे प्रदर्शन के दौरान अपनी पार्टी के झंडे और बैनर ना लाएं.

दिल्ली-हरियाणा स्थित सिंघु बॉर्डर पर किसान नेता डॉक्टर दर्शन पाल ने कहा- भारत बंद कल पूरे दिन रहेगा. चक्का जाम दोपहर 3 बजे तक रहेगा. यह शांतिपूर्ण बंद होगा.

हम इस पर अड़े हैं कि किसी भी राजनीति दलों के नेताओं को अपने मंच की इजाजत नहीं देंगे. इधर, एक अन्य किसान नेता निर्भय सिंह ने कहा- हमारा प्रदर्शन पंजाब तक ही सीमित नहीं होगा. दुनियाभर से यहां तक की कनाडा के प्रधानमंत्री ट्रुडो हमारा समर्थन कर रहे हैं. हमारा प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से होगा.

” सरकार को हमारी मांगें स्वीकार करनी होगी, हम नए कृषि कानूनों को वापस लिए जाने से कम कुछ नहीं चाहते. मंगलवार को भारत बंद दोपहर बाद तीन बजे तक रहेगा; लेकिन जरूरी सेवाओं के लिए अनुमति होगी. हम किसानों से अपील करते हैं कि वे भारत बंद लागू करने के लिए किसी पर दबाव नहीं डालें. ” -किसान नेता बलवीर सिंह राजेवाल ने कहा

देशव्यापी बंद को देखते हुए केन्द्र सरकार की तरफ से राज्य और केन्द्र शासित प्रदेशों को एडवाइजरी जारी की गई है. केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी करते हुए राज्य और केन्द्र शासित प्रदेशों से कहा है कि वे भारत बंद के दौरान किसी भी तरह की अप्रिय घटना को रोकने के साथ ही कानून और शांति-व्यवस्था को बनाए रखें. इसके साथ ही, एडवाइजरी में कहा गया है कि राज्य सरकारों तथा केंद्र शासित प्रदेश के प्रशासकों को सुनिश्चित करना चाहिए कि कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन किया जाए और सामाजिक दूरी बनाए रखी जाए.

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार की तरफ से सितंबर महीने में मॉनसून सत्र के दौरान कृषि सुधार से संबंधित तीन कानून पास कराए गए हैं. इसके बाद एमएसपी को लेकर किसानों की तरफ से इस कानून का विरोध किया जा रहा है. ‘भारत बंद’ का कांग्रेस, राकांपा, द्रमुक, सपा, टीआरएस और वामपंथी दलों जैसी बड़ी पार्टियों ने बंद का समर्थन किया है.
राजधानी दिल्ली में नए कृषि कानूनों पर प्रदर्शन करने पंजाब-हरियाणा और अन्य राज्यों से आए किसानों का सोमवार को 12वां दिन है. इधर, अब तक पांचवें दौर की किसान संगठनों और केन्द्र सरकार के बीच बातचीत हो चुकी है, लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकल सका. किसान संगठनों के नेता नये कानून को वापस लेने की अपनी मांग पर अड़े हुए हैं और ‘हां या नहीं’ में स्पष्ट जवाब की मांग करते हुए ‘मौन व्रत’ धारण किए हुए हैं जिसके बाद केंद्र ने गतिरोध को समाप्त करने के लिए नौ दिसंबर को एक और बैठक बुलाई है। लेकिन, उससे पहले किसानों की तरफ से भारत बंद बुलाया गया है.

Input :ABP News

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
50%
4 Star
50%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

47 thoughts on “किसान नेताओं ने “भारत बंद” का समर्थन करने वाले राजनितिक दलों को दी ये सख्त हिदायत

  1. I truly appreciate this post. I have been looking everywhere for this! Thank God I found it on Bing. You have made my day! Thank you again. Aliza Abeu Wilmott

  2. May I just say what a relief to discover someone that truly understands what they are discussing on the web. You certainly realize how to bring an issue to light and make it important. A lot more people must look at this and understand this side of the story. I was surprised you are not more popular since you most certainly have the gift. Mercedes Ryan Barbour

  3. I was excited to find this site. I need to to thank you for your time just for this wonderful read!! I definitely appreciated every bit of it and I have you saved to fav to look at new stuff on your web site. Veronike Adriano Tiff

  4. Wonderful story, reckoned we could combine a few unrelated information, nonetheless actually really worth taking a appear, whoa did one discover about Mid East has got a lot more problerms also Kalindi Keefer Nataline

  5. I know this web page presents quality dependent content and other material, is there any other website which gives these data in quality? Amie Micheal Moira

  6. that may be the finish of this post. Right here youll locate some web sites that we assume you will value, just click the hyperlinks over Phylis John Casper

  7. Coquettish darn pernicious foresaw therefore much amongst lingeringly shed much due antagonistically alongside so then more and about turgid. Ileane Nicolais Hobie

  8. Usually I do not read article on blogs, but I wish to say that this write-up very forced me to try and do so! Your writing style has been amazed me. Thanks, very nice article. Brynna Kermie Garfield

  9. I was excited to uncover this great site. I need to to thank you for your time just for this wonderful read!! I definitely enjoyed every bit of it and I have you book-marked to look at new information on your website. Alicia Hollis Nanice

  10. I think this is among the most vital info for me.
    And i am glad reading your article. But want to remark on some general things, The website style is perfect,
    the articles is really great : D. Good job, cheers

  11. An interesting discussion
    is worth comment. I do
    believe that you should publish more about this subject,
    it might not be a taboo subject but typically folks don’t talk about
    these subjects. To the next!
    Many thanks!!

  12. Greetings! I know this is somewhat off topic but I was wondering if you knew
    where I could locate a captcha plugin for my comment form?
    I’m using the same blog platform as yours and I’m having trouble finding
    one? Thanks a lot.!

  13. Pretty section of content. I just stumbled upon your weblog and
    in accession capital to assert that I acquire actually enjoyed account your blog
    posts. Anyway I’ll be subscribing to your augment and
    even I achievement you access consistently quickly

  14. Hello there! This article couldn’t be written much better!
    Looking through this article reminds me of my previous roommate!
    He always kept preaching about this. I’ll forward this post to him.
    Pretty sure he will have a very good read. Thank you for sharing!

  15. Greetings! I know this is somewhat off topic but I was wondering if you knew
    where I could locate a captcha plugin for my comment form?
    I’m using the same blog platform as yours and I’m having trouble finding
    one? Thanks a lot!

  16. We’re a group of volunteers and opening a new
    scheme in our community. Your website offered us with
    valuable info
    to work on. You have done a
    formidable job and our whole community will be grateful to you.

  17. Link exchange is nothing else however it is only placing the other
    person’s blog link on
    your page at appropriate place and other person will also do similar in favor
    of you.

  18. Sitenizin sıralamasını merak ediyorsanız Türkiye’nin en basit arayüzüne sahip sıra bulucu sitemize göz atabilirsiniz. Tamamen ücretsiz ve kullanımı kolay google sıra bulucu sitemize göz atabilirsiniz.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: