राजनीतिक जीवन में बिताए अल्पावधि में महानतम उंचाई को छूकर इतिहास में अमर हो गये डाo मुखर्जी : रंजन

डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी का व्यक्तित्व, कार्य संस्कृति एवं उनकी जीवनी राजनैतिक मार्ग में कार्यकर्ताओं के लिए दिग्दर्शन है:

मुजफ्फरपुर- 23 जून, भारतीय जनसंघ के संस्थापक, प्रख्यात शिक्षाविद प्रखर राष्ट्रवादी नेता डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की 71वीं पुण्यतिथि को भाजपा ने अपने सभी संगठनात्मक मंडलों में बलिदान दिवस के रूप में मनाया। वृक्षारोपन एवं पुष्पांजलि सहित विचार गोष्ठी का आयोजन हुआ ।

इस क्रम में रविवार को जिला मुख्यालय पर भाजपा जिलाध्यक्ष रंजन कुमार की अध्यक्षता में स्थानीय जूरन छपरा स्थित पार्टी कार्यालय में जिला भाजपा द्वारा आयोजित मुख्य कार्यक्रम में पुष्पांजलि एवं श्यामा प्रसाद मुखर्जी व्यक्तित्व व कृतित्व पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया. जहां डाo मुखर्जी के तैलचित्र पर माल्यार्पण व श्रद्धासुमन अर्पित कर पार्टी नेता व कार्यकर्ताओं ने उनके बताए मार्ग पर चलने के साथ वृक्षारोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लिया।

गोष्ठी में अपने विचार व्यक्त करते हुए भाजपा जिलाध्यक्ष रंजन कुमार ने कहा कि राष्ट्रवाद की विचारधारा, देश की एकता और अखंडता के लिए प्रतिबद्धता तथा राजनीतिक विकल्प के बीजारोपण के लिए आजादी के बाद के इतिहास में अगर किसी एक राजनेता का स्मरण आता है तो वह डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी हैं जो अपने राजनीतिक जीवन में बिताए अल्पावधि में महानतम उंचाई को छूकर इतिहास में अमर हो गये। भाजपा जिलाध्यक्ष ने डॉ मुखर्जी को मां भारती का सच्चा सपूत बताते हुए कहा कि जिस राष्ट्रीय एकता और अखंडता को अक्क्षूण बनाए रखने का संकल्प डाo मुखर्जी ने लिया था उसे पीएम मोदी ने आज सिद्ध कर दिखाया। कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिर्फ एक व्यक्ति नहीं बल्कि विचार थे और उनके विचार को अंजाम तक पहुंचाने का कार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया।

उन्होंने कहा कि भारत की एकता-अखंडता के लिए जिवनोत्सर्ग करने वाले अद्भुत प्रतिभा एवं संकल्पवान निष्ठा के व्यक्तित्व, भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी का व्यक्तित्व, कार्य संस्कृति एवं उनकी जीवनी राजनैतिक मार्ग में कार्यकर्ताओं के लिए दिग्दर्शन है।

भाजपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी नवभारत के निर्माताओं में से एक महत्त्वपूर्ण स्तम्भ हैं। अखंड भारत के निर्माण में डॉ. मुखर्जी के योगदान को भुलाया नहीं सकता। उन्हें किसी दल की सीमाओं में नहीं बांधा जा सकता क्योंकि उन्होंने जो कुछ किया राष्ट्र की एकता और अखंडता के लिए किया भारत भूमि के लिए जिवनोत्सर्ग करने वाले ऐसे महामानव प्रखर राष्ट्रवादी के दिखाए मार्ग पर चलना भाजपा के एक एक कार्यकर्ता के लिए परम सौभाग्य की बात है।

इस अवसर पर गोष्ठी के मुख्य वक्ता बिहार सरकार के पूर्व मंत्री रामसूरत राय ने कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के रूप में देश को एक ऐसा दूरदर्शी नेता मिला जिसने भारत की समस्याओं के मूल कारणों तथा उसके स्थायी समाधान पर जोर दिया और उनके लिए जीवन पर्यन्त संघर्ष किया। उन्होंने कहा कि ‘कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाए रखने और देश की एकता और अखंडता के लिए उनका समर्पण और बलिदान देशवासियों को सदैव प्रेरित करता रहेगा।

विचार गोष्ठी में मुख्य रूप से पंचायती राज मंत्री बिहार सरकार केदार गुप्ता, पूर्व मंत्री अजीत कुमार, पूर्व विधायक बेबी कुमारी, जिला उपाध्यक्ष विशेश्वर प्रसाद शंभु, अंकज कुमार, गीता कुमारी, जिला महामंत्री सचिन कुमार, धर्मेंद्र साहू, प्रभु कुशवाहा, जिला मंत्री धनंजय झा, नंद किशोर पासवान, जिला मीडिया प्रभारी आशीष श्रीवास्तव, राकेश पटेल, ममता रानी, अर्जुन राम, मोर्चा अध्यक्ष विजय पांडेय, फेकु राम, भारत रत्न यादव, ममता कुमारी, राम कुमार झा, शैलेंद्र कुमार, मनोज सिंह, ओम प्रकाश कुमार, हरि किशोर बैठा, चुन्नू रजक, छोटू दास, रुपेश भारतीय, राकेश कुमार, अनिल सिंह, आकाश पटेल, उदय शंकर नन्हे, प्रणव भूषण मोनी, मिथिलेश कुमार, अबोध साह, अनिल सिंह, रवि पराशर, वरुण झा मौजूद रहे।

10 thoughts on “डाo श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि को भाजपा ने बलिदान दिवस के रूप में मनाया”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *