https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

नई दिल्‍ली: स्वीडन की रहने वाली पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग के एक ट्वीट से भारत के खिलाफ बड़ी साजिश का पर्दाफाश हुआ है। ग्रेटा ने हाल में ट्वीट कर किसान आंदोलन को लेकर काफी आलोचना की थी। उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक सीक्रेट डॉक्युमेंट शेयर किया।

इस डॉक्युमेंट में ग्रेटा थनबर्ग ने बताया है कि कैसे किसान आंदोलन के समर्थन में सोशल मीडिया पर कैंपेन चलाना है। इसमें भारत सरकार पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बनाने की कार्ययोजना साझा की गई थी और पांच चरणों में दबाव बनाने की बात कही गई थी। ग्रेटा ने डॉक्युमेंट शेयर करते हुए इसे टूलकिट बताया।

उन्होंने लिखा था कि अगर आपको मदद चाहिए, तो ये रही टूलकिट।

हालांकि ग्रेटा ने अपना पुराना ट्वीट डिलीट कर दिया है। अब ग्रेटा ने नया ट्वीट करके अपडेटेड प्लान जारी किया है। नये टूलकिट में ग्रेटा ने 26 जनवरी को विदेश और भारत में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन का प्लान हटा दिया है।

नये ट्वीट में ग्रेटा ने लिखा है कि अगर आप मदद करना चाहते हैं, तो ये अपडेटेड टूलकिट है। पिछला डॉक्यूमेंट हटा दिया है, क्योंकि ये पुराना था। ग्रेटा के अलावा कई विदेशी सेलिब्रिटीज ने ट्वीट किए, जिसमें रिहाना, मिया खलीफा और कमला हैरिस की भांजी मीना हैरिस भी शामिल थीं।

‘सीक्रेट डॉक्युमेंट’ में क्या था?

ऑन ग्राउंड प्रदर्शन में हिस्सा लेने पहुंचने की अपील

किसानों के विरोध प्रदर्शन के साथ एकजुटता दिखाएं

एकजुटता दिखाने वाली तस्वीरों को 25 जनवरी तक मेल करें

किसान आंदोलन पर डिजिटल स्ट्राइक करने की बात

#AskIndiaWhy के साथ तस्वीर और वीडियो ट्वीट करें

26 जनवरी या इससे पहले ट्विटर पर तस्वीरें पोस्ट करें

4 से 5 फरवरी को ट्विटर पर तूफान लाने की अपील

आंदोलन से जुड़ी सभी चीजों को ट्रेंड करवाने का आह्वान

6 फरवरी को कैंपेन का आखिरी दिन बताया गया

भारत पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ाने के तरीके भी बताए

ऑनलाइन पिटीशन साइन कराने की बात भी कही गई

भारतीय दूतावासों के पास प्रदर्शन की बात भी की गई

कब और कहां प्रदर्शन करना है इसका जिक्र था

मीडिया हाउस, सरकारी इमारतों पर भी प्रदर्शन की बात

अडानी-अंबानी के दफ्तर के बाहर भी प्रदर्शन की अपील

बीजेपी ने कहा है कि ग्रेटा थनबर्ग के ट्वीट से साफ हो गया है कि किसान आंदोलन के पीछे विदेशी ताकतें लगी हैं। बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि ट्वीट के साथ जारी की गई टूलकिट से साफ हो गया कि किस तरह भारत को कमजोर करने की साजिश रची जा रही है।

Input : News24

189 thoughts on “किसान आंदोलन को लेकर भारत के खिलाफ बड़ी साजिश का हुआ पर्दाफाश”
  1. Its such as you read my mind! You appear to understand so much approximately
    this, such as you wrote the e-book in it or something.
    I think that you simply could do with some percent to
    force the message house a little bit, however other than that, that is wonderful blog.
    A great read. I’ll certainly be back.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *