जल्द बढ़ने वाले है बिस्कुट के दाम, मौजूदा भाव मे 10-20 फीसदी की आ सकती है तेजी

0 0
Read Time:4 Minute, 48 Second

Biscuit price rise: खाने के तेलों के भाव बढ़ने के बाद बिस्कुट के दाम में वृद्धि होने की प्रबल संभावना है. बिस्कुट की दुनिया में महारत रखने वाली कंपनी पारले प्रोडक्ट दूसरी बार बिस्कुटों के दाम बढ़ाने की तैयारी की है. स्नैक्स और कॉन्फेक्शनरी के रेट में बहुत जल्द वृ्द्धि हो सकती है. पारले ने कहा है कि बहुत जल्द दूसरी बार रेट बढ़ाए जाएंगे. मौजूदा वित्तीय वर्ष (2022) की तीसरी और चौथी तिमाही में बिस्कुटों के दाम 10-20 फीसदी तक बढ़ने की संभावना है.

पारले ने इसी वित्तीय वर्ष की पिछली तिमाही में 10-15 परसेंट तक वृद्धि की है. ‘CNBC-TV18’ को दिए एक इंटरव्यू में कंपनी की तरफ से यह बात सामने आई है. कंपनी का कहना है कि देश में तेल, आटा और चीनी के भाव बढ़ने के चलते बिस्कुटों के दाम बढ़ाए जा रहे हैं. कच्चे माल के तौर पर जिन सामग्रियों का इस्तेमाल बिस्कुट बनाने में होता है, उनके दाम बढ़ने से बिस्कुटों की कीमतें बढ़ रही हैं. पारले अपने अगले चरण में सभी रेंज पर जैसे कि बिस्कुट, कॉन्फेक्शनरी और स्नैक्स पर रेट बढ़ाने जा रहा है.

कितना बढ़ेगा रेट

रिपोर्ट के मुताबिक, पारले अपने 300 ग्राम वाले मठरी (रस्क) के पैकेट का रेट 10 रुपये बढ़ोतरी (Biscuit price rise) करेगा. पारले बिस्कुट की वेरायटी में पारले जी, क्रैकजैक आदि की कीमतें 5-10 फीसदी तक बढ़ सकते हैं. 400 ग्राम के रस्क के पैकेट का दाम 4 रुपये तक बढ़ सकता है. जो कम वजन के पैकेट हैं उनके दाम नहीं बढ़ेंगे क्योंकि कंपनी ने पैकेट का वजन कम कर दिया है. इस कैटगरी में 10 से 30 रुपये के प्रोडक्ट आते हैं. उदाहरण के लिए 10 रुपये का पैकेट उतने का ही रहेगा लेकिन उसका वजन कुछ कम हो जाएगा.

पारले ने अभी हाल में ब्रेकफास्ट सिरीअल मार्केट में उतरने का ऐलान किया है. ब्रेकफास्ट प्रोडक्ट के बाजार में पारले अपने जाने-पहचाने ब्रांड हाइड एंड सीक के नाम से ही उतरने की तैयारी में है. पारले को उम्मीद है कि बिस्कुट, स्नैक्स और कॉन्फेक्शनरी को लोगों का जिस तरह का सहयोग मिला है, वैसा ही सहयोग ब्रेकफास्ट प्रोडक्ट को भी मिलेगा.

अभी हाल में पारले के वरिष्ठ श्रेणी के मार्केटिंग प्रमुख बी कृष्ण राव ने कहा, “… इनपुट कीमतों में वृद्धि हुई है. इससे मूल्य वृद्धि हो रही है और हम वास्तव में यह सुनिश्चित करते हैं कि उनकी कीमत में वृद्धि एक वित्तीय वर्ष में 15% से अधिक न हो.” 15% मूल्य वृद्धि तब की जाती है जब एक खास प्रोडक्ट के लिए ग्राहक की मांग कम होने लगती है.

इन कंपनियों ने बढ़ाए दाम

मेरिको, हिंदुस्तान यूनिलीवर और नेस्ले इंडिया जैसी कंपनियां अपने प्रोडक्ट का रेट बढ़ा चुकी हैं. यह बढ़ोतरी इसी साल की गई है. मेरिको सफोला, पैराशूट, सेट वेट और लिवॉन जैसे प्रोडक्ट बनाती है. इस कंपनी ने सफोला के रेट 50 फीसदी तक बढ़ाए हैं. इसी तरह, हिंदुस्तान यूनिलीवर डोव, लक्स, पेयर्स, हमाम, लिरिल, सर्फ एक्सेल, व्हील जैसे प्रसिद्ध उत्पाद बनाती है. इस कंपनी ने सर्फ एक्सेल, रिन, लक्स, व्हील डिटरजेंट के दाम में 2.5 फीसदी की बढ़ोतरी की है. नेस्ले इंडिया कंपनी नेस्ले, किटकैट, मंच, बारवन, नेसकैफे और मैगी जैसे प्रोडक्ट बनाती है. कई प्रोडक्ट के दाम में 1-3 फीसदी तक बढ़ोतरी की गई है.

Source : Tv9 bharatvarsh

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Previous post आने वाले दिनों में पेट्रोल डीजल की कीमतों में कमी के आसार, भारत सरकार ने लिया बड़ा फैसला
Next post बिहार : 26 नवंबर को शराब नहीं पीने की शपथ लेंगे सभी विभाग के कर्मचारी, चुकने वालो को करना होगा ये काम

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply to Anonymous Cancel reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: