0 0
Read Time:4 Minute, 2 Second

केद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी देश की सड़कों और व्हीकल को बेहतर बनाने की दिशा में तेजी से काम कर रहे हैं। हालांकि, पैसेंजर व्हीकल में 6 एयरबैग का जो नियम 1 अक्टूबर से लागू होने वाला था, उसे 1 अक्टूबर 2023 तक बढ़ा दिया है। वे चाहते हैं कि इस नियम को जल्दी से लागू किया जाए ताकि सड़क दुर्घटना में लोगों की जान बचाई जा सके। इसी दिशा में वे सड़कों को भी बेहतर बनाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश में जनसंख्या और गाड़ियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में केंद्र सरकार 2024 तक सड़क हादसों में 50 फीसदी तक की कमी लाएगी। हादसों में मौत के आंकड़ों में भी कमी आएगी।

नया व्हीकल एक्ट लेकर आए: गडकरी
गडकरी इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में शामिल हुए। जहां पर उन्होंने बताया कि सड़क दुर्घटनाओं के लिए रोड इंजीनियरिंग बहुत बड़ी समस्या है। हम सभी कारों में एयरबैग्स लगाने, टू-व्हीलर के लिए हेलमेट को अनिवार्य करने सहित नया व्हीकल एक्ट लेकर आए हैं। हमने 40,000 करोड़ रुपए खर्च करके ब्लैक स्पॉट की पहचान की और उसमें सुधारने की कोशिश कर रहे हैं। इस काम के लिए लोगों के साथ मीडिया का सहयोग भी चाहिए। ताकि इस काम को और भी तेजी से किया जा सके।

सरकार कई चीजों पर काम कर रही

इवेंट के दौरान गडकरी ने साइरस मिस्त्री के हादसे का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि इस एक्सीडेंट के बाद उन्होंने मर्सिडीज से भी बात की है। हम ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, रोड इंजीनियरिंग, एजुकेशन अवेयरनेस कैंपेन फॉर रोड सेफ्टी, एक्सीडेंट होने के बाद तुरंत जान बचाना जैसी कई चीजों पर काम कर रहे हैं। सड़क हादसों की संख्या हम 2024 तक 50 फीसदी कम कर देंगे। साथ ही, ऐसे हादसों में लोगों की मौत होने वाले आंकड़ों भी कम कर लेंगे। बता दें कि देश में हर साल 5 लाख रोड एक्सीडेंट होते हैं, जिसमें करीब 1.5 लाख लोगों की मौत हो जाती है। वहीं, 3 लाख लोगों के हाथ-पैर टूट जाते हैं।

M1 कैटेगरी में लगेंगे 6 एयरबैग
M1 कैटेगरी वाली कारों में 6 एयरबैग के नियम को फिलहाल सालभर के लिए टाल दिया गया है। यानी जो नियम 1 अक्टूबर, 2022 से लागू होने वाला था वो अब 1 अक्टूबर, 2023 से लागू होगा। सरकार ने इस नियम को एक्सटेंड करने के पीछे ग्लोबल सप्लाई चेन में आ रही बाधाओं को बताया। गडकरी ने कहा कि मोटर व्हीकल में सफर करने वाले सभी यात्रियों की सुरक्षा उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता है, चाहे उनकी कीमत और वैरिएंट कुछ भी हों। ऑटो इंडस्ट्री को ग्लोबल सप्लाई चेन में आ रही बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में इसके प्रभाव को देखते हुए पैसेंजर कार (M1 कैटेगरी) में न्यूनतम 6 एयरबैग लागू करने के प्रस्ताव को 1 अक्टूबर, 2023 से लागू करने का निर्णय लिया गया है।

Input : live hindustan

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: