0 0
Read Time:3 Minute, 8 Second

मुजफ्फरपुर. 12वीं तक के बच्चों को ठीक से खाना खिलाना मांओं के लिए बहुत बड़ी चुनौती रहती है. लेकिन यहां दसवीं क्लास का एक लड़का है, जो दिन भर में दो चार किलो भोजन की डाइट लेता है. इंद्रप्रस्थ इंटरनेशनल स्कूल के इस स्टूडेंट का नाम सालिफ इस्लाम है. हाल में पहलवानी की राज्य स्तरीय चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल हासिल करने वाला सालिफ तीन बार नेशनल रेसलिंग टूर्नामेंट खेल चुका है. सालिफ पहलवानी में बिहार का चैंपियन भी है. इसकी डाइट जानकर अच्छे अच्छे दंग रह जाते हैं.

सालिफ के पिता मिनाजुल इस्लाम बिजनेसमैन हैं और वह मुजफ्फरपुर के सदपुरा मोहल्ले के नीम चौक के पास रहते हैं. सालिफ का मानना है कि बिहार में सिर्फ पढ़ाई को प्रमोट किया जाता है. अभी खेल का ज्यादा स्कोप नहीं है. इसके बावजूद सालिफ पहलवानी में हुनर आजमाना चाहता है. सालिफ ने बताया मुजफ्फरपुर में रहकर प्रैक्टिस करना बेहद मुश्किल है. मुजफ्फरपुर के एसोसिएशन के पास मैट की भी व्यवस्था नहीं है. स्टेट और नेशनल लेवल के मैच मैट पर होते हैं. बिना मैट के प्रैक्टिस करके टूर्नामेंट खेलना टेढ़ी खीर हो जाता है.

ओलंपिक खेलने की है तमन्ना

सालिफ ने बताया साल भर पहले वह कबड्डी खेला करता था. कबड्डी में उसे मजा भी आया. लेकिन वजन ज्यादा होने के कारण उसके पीटी टीचर ने पहलवानी करने की सलाह दी. इसके बाद सालिफ ने साल भर में ही में मेडलों की झड़ी लगा दी. अंतर्राष्ट्रीय स्तर के पहलवान योगेश्वर दत्त को अपना आदर्श मानने वाला सालिफ एक दिन ओलंपिक खेलने की ख्वाहिश रखता है. फिलहाल वह अपनी खेल की बारीकियों और फिटनेस पर फोकस कर रहा है.

ये है सालिफ की डेली डाइट

सालिफ के मुताबिक पहलवानी के लिए डाइट मेंटेन रखना बहुत जरूरी है. वह सुबह प्रैक्टिस से आने के बाद वह 6 उबले अंडे, 250 ग्राम ड्राई फ्रूट्स, 1 लीटर दूध और एक रोटी खाता है. दोपहर में हल्का-फुल्का भोजन करने के बाद रात को हेवी डाइट लेता है. सालिफ ने बताया रात को वह 1 किलो चिकन और 6-7 रोटी खाता है. फिर एक ग्लास दूध भी.

Source : News18

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: