https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

प्रेम प्रसंग में रेपुरा रामपुर साह निवासी सौरभ कुमार की हत्या के दूसरे दिन उसके घर व गांव में मातम पसरा रहा। दोनों गांव पुलिस छाबनी में तब्दली रहा। पुलिस लगातार गांव में गश्ती करती रही। सरैया एसडीपीओ राजेश शर्मा, मोतीपुर अंचल इंस्पेक्टर रंधीर कुमार सिंह समेत कई थानों की पुलिस के अलावा पुलिस लाइन से सुरक्षाकर्मियों की तैनाती रही। रेपुरा रामपुर साह और सोनबरसा में पुलिस टीम ने फ्लैग मार्च भी किया।

इधर, आरोपित के सोनबरसा स्थित घर में भी रविवार को सन्नाटा रहा। ग्रमीण अपने-अपने घरों में ही रहे। सोनबरसा के ग्रामीण घटना को लेकर कुछ भी बोलने से परहेज कर रहे हैं। कांटी पुलिस घटना की तहकीकात में जुटी है। गिरफ्तार नामजद आरोपित सुशांत पांडेय से काफी देर तक घटना के बारे में पुलिस ने पूछताछ की। रविवार को सुशांत पांडेय समेत बवाल में गिरफ्तार हुए मृतक सौरभ के चाचा अशोक ठाकुर, रंजीत ठाकुर व मुकेश कुमार को रविवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। प्रभारी डीएसपी वेस्ट राजेश शर्मा ने बताया कि दोनों गांवों में पुलिस बल की तैनाती की गई है। असमाजिक तत्वों पर नजर बनाए हुए है। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है।

हत्या व बवाल मामले में हुई अलग अलग एफआईआर

सौरभ कुमार की हत्या मामले में उसके पिता मनीष कुमार के बयान पर चार लोगों को नामजद किया गया है। कांटी थाना में दर्ज की गई एफआईआर में लड़की के पिता सुशांत पांडेय, चाचा प्रशांत पांडेय, समेजन पांडेय व गौरव पांडेय को हत्यारोपित किया है। मनीष ने पुलिस को दिए गए बयान पर सौरभ के साथ पहले भी मारपीट होने व धमकी देने का आरोप लगाया है। वहीं, सोनबरसा में आरोपित के घर पर हुए बवाल व शव का दाह संस्कार करने के मामले में मोतीपुर अंचल के इंस्पेक्टर रणधीर कुमार सिंह के बयान पर चार नामजद व 200 अज्ञात लोगों पर एफआईआर दर्ज कराई है। नामजदों में गिरफ्तार अशोक ठाकुर, रंजीत ठाकुर व मुकेश कुमार का नाम भी शामिल है। एफआईआर में विधि व्यवस्था बिगाड़ने व पुलिस के साथ धक्का मुक्की करने का आरोप भी लगाया गया है।

Input: live hindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *