0 0
Read Time:4 Minute, 1 Second

थाना क्षेत्र की सकरा बाजिद पंचायत के हसनपुर बंगाही में शनिवार रात ससुराल वालों ने नवविवाहिता की हत्या कर दी। साक्ष्य मिटाने के लिए अधजली लाश को गड्ढा खोदकर उसमें दफना दिया। रविवार सुबह मायके वालों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मिट्टी खोदकर अधजली लाश बरामद की। मृतका की पहचान रामकुमार राम की पत्नी रासवती कुमारी उर्फ अमृता के रूप में हुई है। बीते 30 जून को उसकी शादी हुई थी।

लाश को पोस्टमार्टम के लिए पुलिस ले गई, लेकिन लाश काफी जल चुकी थी, जिसके कारण पोस्टमार्टम नहीं हो सका। लाश लेकर टीम सकरा थाना लौट आयी। इसके बाद पुलिस ने बिसरा जांच के लिए फिर से पेपर तैयार कर लाश को एसकेएमसीएच भेजा है। सकरा थाने के एसआई सरोज कुमार ने बताया कि मायके वालों ने 50 हजार रुपये दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाते हुए एफआईआर करायी है। घटना के बाद से ससुराल वाले हैं, जिसकी तलाश में छापेमारी की जा रही है।

चाचा ने दर्जनभर लोगों को किया नामजद

रायपुर दुबहा निवासी मृतका के चाचा बंगाली राम ने सकरा थाने में हत्या को लेकर एफआईआर दर्ज करायी है। इसमें दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाया गया है। आवेदन में बताया कि अमृता की ससुराल वालों ने गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को जलाकर दफना दिया। मामले में अमृता के पति रामकुमार राम, ससुर लालदेव राम, भैसुर राजकुमार राम, पड़ोसी आलोक पासवान, कृष्णा देवी, बहनोई, सास समेत दर्जनभर लोगों को नामजद किया है।

मायके वालों को फोन कर घर से भाग जाने की दी सूचना

सुबह घटना की जानकारी होने पर रायपुर दुबहा गांव से काफी संख्या में लोग हसनपुर बंगाही पहुंचे। पुलिस को अमृता की मां, भौजाई व भाई ने बताया कि रविवार चार बजे भोर में फोन कर रामकुमार राम ने बताया कि अमृता कहीं भाग गई है। इसके बाद मोबाइल बंद कर लिया। आशंका होने पर जब बंगाही पहुंचे तो घटना की जानकारी हुई। इस दौरान मायके वालों व ससुराल पक्ष के लोगों के बीच मारपीट भी हुई। स्थानीय लोगों के हत्सक्षेप से लोग शांत हुए तबतक पुलिस भी पहुंच गई।

दस हजार रुपये जुर्माना नहीं चुकाने पर हत्या की होती रही चर्चा

ग्रामीणों ने बताया कि 30 जून को शादी की रात डीजे को लेकर विवाद हुआ था। इसमें डीजे क्षतिग्रस्त हो गया था। शादी के बाद जब मायके वाले बंगाही पहुंचे तो ससुराल वाले मारपीट कर उन लोगों को बंधक बना लिया था। इसको लेकर गांव में पंचायत हुई थी। इसमें लड़की पक्ष पर दस हजार रुपये जुर्माना लगाया गया था। लेकिन गरीबी के कारण लड़की पक्ष जुर्माने की राशि नहीं दे सका। इसको लेकर भी ससुराल वाले नवविवाहिता को प्रताड़ित करते थे। इसी पैसा के विवाद में हत्या की चर्चा गांव में हो रही थी।

Input : live hindustan

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: