https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

मुजफ्फरपुर, जिलाधिकारी प्रणव कुमार की अध्यक्षता में बाढ़ एवं जलजमाव के पश्चात फैलने वाले संचारी रोगों व महामारियों की रोकथाम, नियंत्रण एवं प्रबंधन के दृष्टिगत समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में संबंधित विभागों के द्वारा संचारी रोगों एवं महामारी के मद्देनजर किए जा रहे कार्यों की समीक्षा जिलाधिकारी द्वारा की गई. बैठक में श्री आशुतोष द्विवेदी, उप विकास आयुक्त मुजफ्फरपुर, श्री विवेक रंजन मैत्रेय, नगर आयुक्त नगर निगम मुजफ्फरपुर, डॉ विनय कुमार शर्मा, सिविल सर्जन मुजफ्फरपुर, डॉ अजय कुमार, अपर समाहर्ता आपदा प्रबंधन, मुजफ्फरपुर सहित संबंधित विभागों के पदाधिकारी एवं तकनीकी अभियंता उपस्थित रहे।

स्वास्थ्य विभाग
सिविल सर्जन मुजफ्फरपुर द्वारा बताया गया कि मानसून तथा जलजमाव से मौसमी वायरल संक्रमण के मामले बढ़े हैं। इससे निपटने के लिए सभी अस्पतालों में प्रभावित मरीजों के लिए चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है। वर्तमान में सभी जीवन रक्षक व आपातकालीन दवाएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। उनके द्वारा बताया गया कि अगस्त माह में 02 डेंगू के मरीज तथा सितंबर माह में 5 डेंगू के मरीज मिले हैं, जिनको चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जा रही है। उनके द्वारा बताया गया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा हाई रिस्क एरिया, अन्य संवेदनशील स्थलों पर व अस्पतालों के आसपास ब्लीचिंग पाउडर, एंटी लार्वा तथा मैरिथियान का छिड़काव कराया जा रहा है। सिविल सर्जन ने बताया कि कम संख्या में स्प्रे मशीन उपलब्ध होने से सभी क्षेत्रों में छिड़काव नहीं हो पा रहा है। जिलाधिकारी द्वारा सिविल सर्जन मुजफ्फरपुर को निर्देश दिया गया कि अभियान चलाकर सभी पंचायतों तथा सभी वार्डों में एंटी लारवा, ब्लीचिंग पाउडर, चुना, कीटनाशकों आदि का छिड़काव कराना सुनिश्चित करें, इस हेतु प्रत्येक पंचायत के लिए 1-1 स्प्रे/फागिंग मशीन का क्रय करें। जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि इस कार्य में आंगनबाड़ी, जीविका दीदी, आशा, शिक्षकों, टोला सेवक, पंचायत सचिव, कृषि सलाहकार आदि का सहयोग लेकर संचारी रोगों की रोकथाम हेतु छिड़काव कराया जाए तथा जागरूकता का प्रसार किया जाए। साथ ही निर्देश दिया गया कि ब्लड बैंक में खून का पर्याप्त भंडारण कराएं, इस हेतु समय-समय पर ब्लड डोनेशन कैंप भी आयोजित कराए जाएं। फागिंग तथा छिड़काव से संबंधित दैनिक प्रतिवेदन व फोटोग्राफ नियमित रूप से जिला आपदा प्रबंधन प्रशाखा मुजफ्फरपुर को उपलब्ध कराएं। डॉ सतीश कुमार जिला वेक्टर बोर्न डिजीज पदाधिकारी ने कहा कि इस मौसम में संचारी रोगों की रोकथाम में जागरूकता का अत्यंत महत्व है, इसके लिए पोस्टर पंपलेट सहित अन्य आईसी सामग्रियों का वितरण विभिन्न माध्यमों से कराया जा रहा है व प्रशिक्षण/जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। आमजन साफ सफाई पर ध्यान दें तथा घर के पुराने सामानों या कबाड़ में जलजमाव ना होने दें यदि घर के आसपास जलजमाव की समस्या है तो 15ml मिट्टी के तेल को जल स्त्रोत या तालाब में डाल दें इससे लारवा नहीं बनेगा। मच्छरों का प्रकोप कम होने से डेंगू की रोकथाम में मदद मिलेगी।

जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि इस कार्य में शिक्षा विभाग, आईसीडीएस तथा जीविका का सहयोग लिया जाए तथा डेंगू व अन्य संचारी रोगों की रोकथाम से संबंधित 15000 पंपलेट इन विभागों को उपलब्ध कराए जाएं. साथ ही जिलाधिकारी ने कहा कि रेडियो, जिंगल, प्रचार वाहन, होर्डिंग आदि के माध्यम से जागरुकता का प्रसार कराए जाने का निर्देश सिविल सर्जन मुजफ्फरपुर तथा अपर समाहर्ता आपदा प्रबंधन मुजफ्फरपुर को दिया।

नगर निगम मुजफ्फरपुर

नगर आयुक्त मुजफ्फरपुर द्वारा बताया गया कि निगम के सभी 49 वार्डों में कूड़ा उठाव कार्य नियमित रूप से किया जा रहा है तथा रोहतिया डंपिंग ग्राउंड में कूड़े का निस्तारण किया जा रहा है। निगम क्षेत्र में तीन जगह डिसेंट्रलाइज्ड कंपोस्टिंग द्वारा गीले कचरे से कंपोस्ट खाद बनाई जा रही है। उन्होंने बताया कि कूड़ा उठाव के पश्चात सभी कूड़ा केंद्रों पर चुना और ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव नियमित रूप से किया जाता है। जलजमाव वाले क्षेत्रों में जल निकासी के पश्चात चुना और ब्लीचिंग का छिड़काव किया जाता है व वर्तमान में सभी वार्डों में एंटी लारवा का छिड़काव किया जा रहा है और निगम क्षेत्र में रोस्टर के अनुसार फागिंग भी कराई जा रही है। डेंगू तथा अन्य संचारी रोग ना पनपने पाएं इसके लिए नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत अवस्थित सभी कुआं की उड़ाही कर साफ सफाई कराई जा रही है उन्होंने कहा कि नगर निगम संचारी रोगों की रोकथाम को लेकर काफी सजग है तथा इस पर गंभीरता से कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जलजमाव की समस्या का समाधान तेजी से किया जा रहा है तथा प्रभावित क्षेत्रों को विसंक्रमित भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पंकज मार्केट बालू घाट जैसे क्षेत्र डेंगू के हॉटस्पॉट के रूप में चिन्हित हैं, यहां विशेष सतर्कता बरती जा रही है।

जिलाधिकारी द्वारा नगर आयुक्त मुजफ्फरपुर को निर्देश दिया कि सभी वार्डों में माइक्रो प्लान बना कर फागिंग कराना सुनिश्चित करें तथा एंटी लारवा का छिड़काव नगरीय क्षेत्र के सभी वार्डों में कराना सुनिश्चित करें। नगरीय क्षेत्र में स्लम बस्तियों में साफ सफाई के विशेष प्रबंध किए जाएं तथा सैनिटाइजेशन का कार्य भी अभियान चलाकर किया जाए जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि जिला अंतर्गत सभी नगर परिषद व नगर पंचायतों में भी अभियान चलाकर छिड़काव का कार्य कराना सुनिश्चित करें इस संबंध में किए जा रहे कार्यों का प्रतिवेदन नियमित रूप से जिला आपदा प्रबंधन प्रशाखा मुजफ्फरपुर को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें

पी०एच०ई०डी०
कार्यपालक अभियंता पीएचइडी द्वारा बताया गया कि जिले में 1580 चापाकल का विसंक्रमण कराया गया है तथा कुल 16 विसंक्रमण दल कार्यरत हैं उन्होंने कहा कि बाढ़ के दौरान 64 अस्थाई चापाकल लगाए गए हैं, 219 अस्थाई शौचालय लगाए गए हैं व 112 चापाकल की मरम्मति की गई है। उन्होंने कहा कि जलजमाव से प्रभावित चापाकल की मरम्मति तथा विसंक्रमण नियमित रूप से कराया जा रहा है एवं ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव भी किया जा रहा है।

जीविका एवं आईसीडीएस

जिला प्रबंधक जीविका ने बताया कि कि संचारी रोगों की रोकथाम के लिए जीविका दीदी के माध्यम से समूह बैठकों में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। आईसीडीएस की जिला समन्वयक, पोषण, सुषमा सुमन ने बताया कि राष्ट्रीय पोषण माह के अंतर्गत संचारी रोगों से बचाव के बारे में आंगनबाड़ी सेविकाओं तथा सहायिकाओं के द्वारा नियमित जागरूकता का प्रसार किया जा रहा है तथा डायरिया की रोकथाम के लिए ओआरएस पैकेट का वितरण भी किया जा रहा है।


शिक्षा विभाग
जिला शिक्षा पदाधिकारी मुजफ्फरपुर ने बताया कि मुख्यमंत्री विद्यालय सुरक्षा कार्यक्रम के अंतर्गत सुरक्षित शनिवार कार्यक्रम के माध्यम से स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता व आपदाओं की रोकथाम के लिए चेतना सत्र का आयोजन नियमित रूप से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि संचारी रोगों की रोकथाम के लिए शिक्षा विभाग विशेष अभियान चलाएगा।

आपदा प्रबंधन
अपर समाहर्ता आपदा प्रबंधन द्वारा बताया गया कि बाढ़ से अभी भी जिले के तीन प्रखंड प्रभावित हैं तथा प्रभावित प्रखंडों में समुदायिक किचन, नावों का संचालन पॉलीथिन शीट का वितरण किया जा रहा है इस कार्य के दौरान संचारी रोगों की रोकथाम के लिए आवश्यक सावधानी बरती जा रही है।

जिलाधिकारी ने कहा कि सभी विभाग सतर्क रहें वर्तमान में कोविड-19 की चुनौती के दौरान जलजमाव के कारण फैलने वाले संचारी रोग की रोकथाम के लिए सभी विभाग मिलकर काम करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *