0 0
Read Time:4 Minute, 10 Second

सेना में भर्ती को लेकर केंद्र सरकार ने अग्निपथ योजना का ऐलान कर दिया है. सेना में चार साल के लिए अग्निवीरों की भर्ती के ऐलान के बाद युवा सड़क पर उतर आए हैं. बिहार में जगह-जगह युवा इस योजना के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं.

रेलवे ट्रैक जाम, ट्रेन में तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाओं के बीच बिहार के सत्ताधारी गठबंधन के दो घटक दल जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) इस मामले पर आमने-सामने आ गए हैं.

जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह ने केंद्र सरकार से अग्निपथ योजना पर पुनर्विचार करने की मांग की है. उन्होंने कहा है कि अग्निपथ योजना को लेकर बिहार के साथ ही देशभर के नौजवानों और छात्रों के मन में असंतोष, निराशा और अंधकारमय भविष्य का डर स्पष्ट दिखने लगा है. जेडीयू अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र सरकार को अग्निवीरों की भर्ती की इस योजना पर तुरंत पुनर्विचार करना चाहिए. यह निर्णय देश की सुरक्षा से जुड़ा है.

बिहार के अलग-अलग जिलों में इस योजना के खिलाफ युवाओं के हिंसक प्रदर्शन के बीच जेडीयू ने पुनर्विचार की मांग की है. दूसरी तरफ, नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार में डिप्टी सीएम रह चुके बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी का भी बयान आया है. सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार को अग्निवीरों के लिए बिहार पुलिस की भर्ती में प्राथमिकता का ऐलान करना चाहिए.

सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि गृह मंत्री अमित शाह ने अग्निवीरों के लिए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल और अन्य सेवाओं के लिए भर्ती प्रक्रिया में प्राथमिकता देने का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि कई अन्य राज्यों की ओर से भी इस तरह का ऐलान कर दिया गया है. सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार सरकार को भी ऐसी पहल करनी चाहिए.

जेडीयू की ओर से पुनर्विचार की मांग उठी तो राज्यसभा सांसद ने नीतीश कुमार की पार्टी को प्रदेश की भर्तियों में अग्निवीरों को प्राथमिकता देने का ऐलान करने की नसीहत दे दी. गौरतलब है कि सेना में चार साल के लिए अग्निवीरों की भर्ती के ऐलान के बाद पूरे प्रदेश में युवा सड़कों और रेल पटरियों पर उतर आए हैं. युवाओं ने ट्रेन में तोड़फोड़ और आगजनी की तो पिछले दो दिन से कई जगह बाइक्स को आग लगा देने की घटनाएं भी सामने आ रही हैं.

बिहार में सेना भर्ती की अग्निपथ योजना के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन का केंद्र बनकर आरा उभरा है. आरा में युवाओं का आक्रोश सड़क से रेल पटरी तक नजर आ रहा है. युवा केंद्र सरकार की इस योजना का विरोध करते हुए इसे तत्काल वापस लेने की मांग कर रहे हैं. युवाओं की नाराजगी को देखते हुए नीतीश कुमार की पार्टी ने केंद्र से ये मांग की है.

इनपुट : आज तक

Advertisment

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: