https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

मुजफ्फरपुर, बिहार के मुजफ्फरपुर के MRS उच्चतर विद्यालय मनियारी के नौवीं कक्षा के छात्र प्रियांशु मुकुल (Priyanshu Mukul) ने एक ऐसा मॉडल (Wireless Charging Model) बनाया है जिससे आने वाले वक्त में इलेक्ट्रीक चार्जिंग गाडियां बिना किसी वायर के चार्ज हो सकेंगी. प्रियांशु के इस प्रोजेक्ट को फिलहाल जिला स्तर पर काफी सराहना मिली है. प्रियांशु इसे राष्ट्रीय स्तर पर लाने को प्रयासरत हैं. देश में बढ़ते इलेक्ट्रिक वाहनों की मांग और उसके चार्ज करने के लिए चार्जर तार की लंबाई का स्विच बोर्ड तक पहुंचना एक समस्या बन रही है.

इसी को देखते हुए नौवीं के छात्र प्रियांशु ने एक ऐसे चार्जिंग स्टेशन की कल्पना की है कि जहां गाड़ियों के खड़े होते ही गाड़ी बिना तार जोड़े ही ऑटोमेटिक चार्ज होने लगेगा. अपने मॉडल की जानकारी देते हुए प्रियांशु ने बताया कि इलेक्ट्रिक गाड़ियों को लेकर जब हम कहीं यात्रा कर रहे होते हैं. तब कई बार हमे ऐसे जगह गाड़ी चार्ज करने की मजबूरी होती है जहां पास में चार्जिंग प्वाइंट नहीं होता है.

जानें कैसे करेगा काम

चार्जर के तार की लंबाई भी कम ही रहती है. कई बार सॉकेट प्रोब्लम भी रहता है जिस कारण गाड़ी को चार्ज होने में देर हो जाता है. हमारी कल्पना एक ऐसे चार्जिंग स्टेशन की है, जहां गाड़ी चार्ज करने के लिए तार की जरूरत ही नहीं हो. इसके लिए हर गाड़ी कंपनी को अपने गाड़ी में एक क्वायल नीचे की ओर लगाना होगा. यही क्वायल चार्जिंग स्टेशन पर इलेक्ट्रिक फिल्ड पैदा करेगा और गाड़ी उस फील्ड में खड़े होते ही ऑटोमेटिक चार्ज होने लगेगी.

सेंसर और प्रोग्रामिंग के जरिये करेगा काम

इसके लिए सेंसर और प्रोग्रामिंग हर कंपनी अपने आधार पर कर सकती है. मेरे मॉडल में यह सुविधा है कि गाड़ी चार्ज होने पर डिस्प्ले बोर्ड पर चार्जिंग लिखेगा. जब गाड़ी की बैटरी पूरी तरह चार्ज हो जायेगी तो यह ऑटोमेटिक चार्जिंग बंद कर देगा. वहीं छात्र के खोज में मदद कर रही शिक्षिका अलका राय ने बताया की वाहन और नवाचार के क्षेत्र में यह कल्पना बिलकुल ही नया और क्रांति फैलानेवाला है. छात्र के इस परिकल्पना को और विस्तृत कर इसे अलग अलग वाहन निर्माता कंपनी को भी भेजा जाएगा.

Source : News18

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *