https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

मुजफ्फरपुर, आज व‍िव‍ि कैंपस एक बार फ‍िर रणक्षेत्र बन गया। पहले एलएस कॉलेज में संचालित ड्यूक छात्रावास में पुराने छात्रों को भी कमरा आवंटित करने की मांग को लेकर छात्र नेताओं ने हंगामा क‍िया। इसके बाद काॅलेज और व‍िव‍ि को बंद करा द‍िया। बाद में जब इसकी सूचना व‍िव‍ि प्रशासन की ओर से पुल‍िस को दी गई तो काफी संख्‍या में पुल‍िस वाले पहुंचे और धरना पर बैठे छात्रों को वहां से हट जाने के ल‍िए कहा। जब उन्‍होंने ऐसा करने से इंकार कर द‍िया तो पुल‍िस ने लाठीचार्ज कर द‍िया। इसके बाद तो वहां मौजूद छात्रों को दौड़ा दौड़ाकर पीटा गया। इस घटना में करीब आधा दर्जन छात्रों को चोट आई है।

वे व‍िभ‍िन्‍न अस्‍पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं। वहीं चार को पुलिस ने हिरासत में भी ल‍िया है। हालांक‍ि इस घटना के बाद से छात्रों में आक्रोश है। इसको देखते हुए पूरे व‍िव‍ि कैंपस को पुलिस छावनी में तब्दील कर द‍िया गया है। घटना की सूचना म‍िलने के बाद एसडीएम व डीएसपी मौके पर पहुंच गए हैं।

इससे पहले प्राचार्य पर कई आरोप लगा उसकी जांच कराने की मांग को लेकर छात्र नेताओं ने सोमवार को भी विश्वविद्यालय बन्द कर दिया है। पहले एलएस कॉलेज को बंद कराया गया, फिर छात्र विवि के पीजी विभागों बन्द कराते हुए प्रशासनिक भवन पहुंचे। वहां कर्मचारियों को बाहर निकलने को कहा। छात्रों को उग्र देख कर्मचारी बाहर निकल गए तो अब सभी वहीं पर धरना पर बैठ गए हैं। उनका कहना है कि ड्यूक छात्रावास में पुराने छात्रों को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। जबकि प्राचार्य पर भी आरोप लगा रहे हैं। अबतक कोई अधिकारी वार्ता के लिए नहीं पहुंचे हैं। बता दें कि शनिवार को भी छात्रों ने विवि बन्द करा दिया था। इस कारण विभिन्न जिले से आये छात्रों को परेशानी हुई थी। उस दिन कुलपति से वार्ता के बाद कुलानुशासक प्रो.अजीत कुमार ने बताया था कि कुलपति ने कहा कि वे खुद मामले को देख रहे हैं। जरूरत हुई तो मामले की जांच की जाएगी।

इनपुट : जागरण

2 thoughts on “BRA Bihar University : हंगामा कर रहे छात्रों पर लाठीचार्ज, पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा”
  1. O software de monitoramento remoto do celular pode obter os dados em tempo real do celular de destino sem ser descoberto e pode ajudar a monitorar o conteúdo da conversa.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *