Bihar School Reopen: 11 महीने पर स्कूलों में लौटी रौनक, दोस्तों से मिलकर खिले छात्रों के चेहरे

0 0
Read Time:4 Minute, 5 Second

Patna: बिहार में आज 11 महीने बाद माध्यमिक विद्यालय खुल गए. कोरोना काल के बाद सोमवार को कक्षा 6 से 8 तक के सभी निजी और सरकारी (ihar School Reopen News) खुल गए. बिहार सरकार ने बीते दिनों कक्षा 6 से 8 तक के स्कूल खोलने के आदेश जारी किए थे. हालांकि, सरकार के आदेश जारी होने के बावजूद भी कुछ स्कूल वेट एंड वॉच की नीति अपना रहे हैं. 

शिक्षा विभाग ने स्कूल खोलने से संबंधित दिशा-निर्देश बीते दिनों जारी किए थे. विभाग ने स्कूलों को गाइडलाइन जारी कर कोरोना से बचाव के सभी निर्देशों का पालन करने को कहा है. जानकारी के अनुसार, विभाग ने सभी सरकारी स्कूलों को निर्देश दिया है कि वो छात्रों को 2-2 मास्क दें. ये बात जीविका दीदी की तरफ से बनाए गए होंगे.

इसके साथ ही स्कूलों में एक साथ 50 फीसदी कैपेसिटी के साथ छात्र आएंगे. बाकी बचे 50 फीसद छात्र अगले दिन स्कूल आएंगे. जबकि शिक्षक और कर्मचारियों पूरी कैपेसिटी के साथ आएंगे. परिवहन के इंतजाम होने पर गाड़ियों को Sanitize भी किया जाएगा.  डिजिटल थर्मामीटर, साबून की सुविधा स्कूलों में तय करने का निर्देश भी दिया गया है. साथ ही छात्रों के बीच छह फीट की दूरी रहेगी.

         आइए जानते हैं शिक्षा विभाग ने स्कूलों के लिए क्या निर्देश दिए हैं- 

पचास फीसदी क्षमता के साथ स्कूल में पढ़ाई शुरू होगा. पहले पच्चास फीसदी एक दिन तो बाकी बचे पच्चास फीसदी छात्र दूसरे दिन आएंगे.

शिक्षक या कर्मचारी पूरी क्षमता के साथ स्कूल आएंगे.

सरकारी स्कूलों में जीविका के जरिए दो-दो मास्क बांटे जाएंगे.

डिजिटल थर्मामीटर, हैंडवॉश, सेनिटाइजर की व्यवस्था स्कूल की तरफ से की जाएगी.

छात्रों के बीच कम से कम छह फीट की होगी दूरी.

अधिक नामांकन वाले स्कूलों में दो शिफ्ट में होगी क्लास.

स्कूलों में एसेंबली होगी लेकिन वो क्लास रूम के अंदर ही एक निश्चित दूरी के साथ.

समारोह, त्योहार के आयोजन से स्कूलों को बचने की सलाह.

बच्चों की सेहत की स्थिति, आखिरी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय यात्रा होने पर इससे संबंधित डिक्लेरेशन लेकर आना होगा.

बाहरी वेंडर स्कूल में किसी भी तरह के खाने की चीज नहीं बेच सकेंगे.

स्कूल बसों को दिन में दो बार सेनिटाइज करना होगा. बस की सभी खिड़कियों में पर्दे नहीं होंगे. बिना मास्क के बच्चे बस में नहीं चढ़ेंगे.

दरअसल, बिहार में सभी तरह के स्कूल पिछले साल कोरोना से पहले होली की छुट्टी के लिए बंद थे, लेकिन जैसे ही होली की छुट्टी समाप्त हुई, कोरोना के कारण स्कूलों को बंद करना पड़ा. हालांकि, शिक्षा को पटरी पर लाने के मकसद से विभाग ने क्लास नौ से लेकर बारह तक के स्कूल कुछ दिन पहले ही खोलने के आदेश दिए थे.

Input : Zee News

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

17 thoughts on “Bihar School Reopen: 11 महीने पर स्कूलों में लौटी रौनक, दोस्तों से मिलकर खिले छात्रों के चेहरे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: