https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

मुजफ्फरपुर में मंगलवार को ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है, जहां नाबालिग बेटी का प्यार करना एक माता-पिता काे इतना नागवार गुजरा कि उसकी हत्या कर दी। बेटी को बगीचे में बहला-फुसलाकर ले गए। वहां चाकू से इतने वार किए कि उसका चेहरा बिगड़ गया। इसके बाद शव को कार में रखकर कुढ़नी के चंद्रहट्टी मन में जाकर फेंक दिया।

कलियुगी माता-पिता की इस करतूत का पर्दाफाश तब हुआ जब खुद उन्होंने बेटी के अगवा हो जाने का केस थाने में दर्ज करवाया। पुलिस ने जांच कर इस केस का खुलासा किया है। ASP वेस्ट सैयद इमरान मसूद ने बताया कि शव मिलने के बाद माता-पिता से पूछताछ में साजिश की बू आई, जिसके बाद इसका खुलासा हुआ।

ASP ने बताया कि पिता शंकर राय ने बेटी की हत्या की साजिश में अपने पड़ोसी 4 युवक को भी शामिल किया था। प्यार का अंत करने के लिए बेटी को बहला-फुसलाकर बगीचे में ले गया था। इसके बाद उसने चाकू गोदकर हत्या कर दी। फिर शंकर राय ने मनियारी थाना में 1 जून को बेटी के अपहरण की FIR दर्ज कराई। इसमें बेटी के प्रेमी सोनू कुमार समेत अन्य को आरोपी बनाया था। 2 जून को पुलिस ने किशोरी के क्षत-विक्षत शव बरामद किया, लेकिन चेहरा इतना खराब हो चुका था कि पहचान नहीं हुई।

पुलिस ने छानबीन शुरू की तो हत्या में किशोरी के माता-पिता का खुलासा हुआ। उन लोगों को बुलाकर पहचान कराई गई। इसके बाद शव पोस्टमाॅर्टम के लिए भेज दिया गया।​​​​​​

किशोरी के चाचा ने खोल दिया रा

ASP वेस्ट सैयद इमरान मसूद ने बताया कि किशोरी के शव मिलने के बाद उसके माता-पिता से पूछताछ में साजिश की महक आ गई थी। ऑनर किलिंग का मामला प्रतीत हो रहा था। किशोरी के घर पर जाकर तलाशी ली गई, उसके माता-पिता को हिरासत में लिया गया। इसी बीच किशोरी के चाचा लालबाबू राय ने पुलिस के पास आकर पूरी सच्चाई बता दी। बताया कि भतीजी पड़ोसी सोनू से प्रेम करती थी। यह बात उसके पिता को नागवार गुजरी और एक साजिश रचकर अपनी बेटी की निर्मम हत्या करा दी।

फरार 4 आरोपितों की तलाश जारी

मंगलवार को प्रेस वार्ता कर SSP जयंत कांत में बताया कि किशोरी के पिता शंकर राय और मां मालती देवी को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है। वहीं, मामले में फरार अन्य चार आरोपित सोनू कुमार, सुशील कुमार, दुर्गेश कुमार और श्याम की तलाश में छापेमारी की जा रही है। SSP ने कहा कि दुर्गेश ने ही किशोरी के चेहरे पर चाकू से दर्जनों वार किया था, ताकि पहचान नहीं हो सके।

Input: dainik bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *