0 0
Read Time:4 Minute, 7 Second

बड़ी संख्या में आ रहे प्रवासी मजदूरों को आवासित करने हेतु बनाए गए प्रखंड स्तरीय एवं पंचायत स्तरीय क्वॉरेंटाइन केंद्रों के बारे में एक महत्वपूर्ण बैठक जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर डॉ० चंद्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में आहूत की गई। बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी एवं प्रखंडों के वरीय प्रभारी पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि अब सिर्फ रेड जोन वाले शहरों  से आने वाले व्यक्तियों को ही प्रखंड स्तरीय क्वॉरेंटाइन केंद्रों में रखा जाएगा एवं पूर्व के भांति प्रशासन के ही स्तर से सारी सुविधाएं उन केंद्रों में उपलब्ध कराई जाएंगी। शेष, अन्य शहरों से आनेवाले प्रवासियों को होम क्वॉरेंटाइन में भेजा जाएगा।

बैठक में बताया गया कि गुजरात के दो शहर सूरत एवं अमदाबाद, महाराष्ट्र के दो शहर मुंबई और पुणे। इसके अतिरिक्त दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा और गुड़गांव तथा कोलकाता एवं बेंगलुरु इन 10 शहरों से आने वाले प्रवासी श्रमिकों को प्रखंड स्तरीय क्वॉरेंटाइन केंद्रों में या वैसे पंचायत स्तरीय क्वॉरेंटाइन केंद्रों में रखा जाएगा जिसमें सारी सुविधाएं उपलब्ध हो। जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि वैसे प्रवासी श्रमिकों को जो कि उपरोक्त शहरों से आ रहे हैं उन्हें प्रखंड स्तरीय क्वॉरेंटाइन केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ रखें।

अधिक से अधिक 10 लोगों पर एक शौचालय का होना अनिवार्य है। इसके साथ ही बताया गया कि पूर्व से प्रखंड क्वॉरेंटाइन केंद्रों में रहने वाले प्रवासी जो रेड जोन वाले के साथ नहीं रह रहे हैं उनका प्रॉपर मेडिकल स्क्रीनिंग कराते हुए उन्हें होम क्वॉरेंटाइन के लिए उनके घर भेज दिया जाए । साथ ही वर्तमान में जो उपरोक्त वर्णित 10 शहरों में से आने वाले प्रवासी श्रमिकों को प्रखंड क्वॉरेंटाइन में ही रखें औरअन्य दूसरे शहरों से जो प्रवासी आ रहे हैं उनका निबंधन प्रखंड स्थित निबंधन केंद्रों पर कराते हुए एवं मेडिकल स्क्रीनिंग कराते हुए उन्हें होम क्वॉरेंटाइन लिए भेज दिया जाए। जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि रेड जोन से आने वाले प्रवासी जिन्हें प्रखंड क्वॉरेंटाइन केंद्रों में रखा जाना है या रखा जा रहा है उन्हें सहायता किट अचूक रूप से उपलब्ध हो जानी चाहिए । साथ ही सरकार द्वारा प्रदत सभी सुविधाओं की उपलब्धता भी सुनिश्चित हो जानी चाहिए । इसमें किसी भी तरह की लापरवाही पर कार्रवाई की जाएगी। बैठक में उप विकास आयुक्त उज्जवल कुमार सिंह, नगर आयुक्त मनेश कुमार मीणा ,सहायक समाहर्ता खुशबू गुप्ता, अपर समाहर्ता आपदा अतुल कुमार वर्मा,अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी एवं पश्चिमी एवं सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: