0 0
Read Time:5 Minute, 30 Second

पटना में इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर है. 5G का इंतजार कर रहे पटनावासी अब तेज डेटा स्पीड का मजा ले पाएंगे. टेलिकम्युनिकेशन सर्विस प्रोवाइडर भारती एयरटेल ने आज पटना में अपनी अत्याधुनिक 5जी सेवाओं को शुरू करने की घोषणा की है. जैसे जैसे कंपनी अपने नेटवर्क का निर्माण और रोल आउट पूरा कर रही है, एयरटेल 5जी प्लस सेवाएं चरणबद्ध तरीके से ग्राहकों के लिए उपलब्ध होती जाएंगी. ग्राहक इन सेवाओं का लाभ उस मोबाईल में उठा सकेंगे जो 5जी सक्षम होगा. ग्राहक इस सेवा का उपयोग किसी अतिरिक्त शुल्क के तब तक कर सकते हैं जब तक कि रोल आउट अधिक व्यापक न हो जाए.

इन इलाकों में ले सकेंगे हाई स्पीड डेटा का मजा

एयरटेल की सेवाएं पटना साहिब गुरूद्वारा, पटना रेलवे स्टेशन, डाक बंगला, मौर्या लोक, बेली रोड, बोरिंग रोड, सिटी सेंटर मॉल, पाटिलपुत्र इंड्रस्ट्रियल एरिया सहित कुछ चुनिंदा स्थानों पर उपलब्ध है. कंपनी पूरे शहर में अपनी सेवाओं को उपलब्ध कराने के लिए नेटवर्क का विस्तार कर रहा है. पटना एयरपोर्ट पर भी 5G की सुविधा उपलब्ध करा दी गई है, जिससे अल्ट्राफास्ट 5जी सेवा का आनंद देने वाला राज्य का यह पहला एयरपोर्ट बन गया. अब पटना एयरपोर्ट से आने- जाने वाले लोग भी हाई स्पीड 5जी नेटवर्क का आनंद ले सकते हैं.

20-30 गुना अधिक मिलेगी स्पीड

बिहार, झारखंड और उड़ीसा के भारती एयरटेल के सीईओ अनुपम अरोड़ा ने लॉन्च के अवसर पर कहा, “मैं पटना में एयरटेल 5जी प्लस के लॉन्च की घोषणा करते हुए रोमांचित हूं. एयरटेल के ग्राहक अब मौजूदा 4जी स्पीड से 20-30 गुना अधिक तक की गति के साथ एक अल्ट्राफास्ट नेटवर्क का उपयोग कर सकते हैं. हम पूरे शहर में इसका विस्तार करने की प्रक्रिया में हैं जो हमारे ग्राहकों को गेमिंग, मल्टीपल चैट, इंस्टेंट फोटो अपलोड और एचडी वीडियो स्ट्रीमिंग जैसी गतिविधियों के लिए सुपरफास्ट एक्सेस प्रदान करेगा.”

दिसंबर के अंत तक जिओ भी शुरू करेगा 5जी सर्विस

वहीं रिलायंस जिओ पटना में ट्रू 5जी सर्विस दिसंबर के अंत में शुरू कर सकती है. जबकि नये साल में गया, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, भागलपुर और पूर्णिया में सेवा शुरू होगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक अक्तूबर को नयी दिल्ली में इंडिया मोबाइल कांग्रेस के छठे एडिशन में आधिकारिक तौर पर भारत में 5जी लांच किया था.

मोबाइल टावर को फाइबर से जोड़ने पर फोकस

बिहार को 5जी मोबाइल तकनीक से लैस करने के लिए दूरसंचार मंत्रालय और राज्य सरकार मिलकर काम कर रहे हैं. मुख्य तौर पर लेटेन्सी (मोबाइल डेटा को एक से दूसरी जगह ले जाने में लगने वाला समय) को कम करने के लिए काम किया जा रहा है. इसके लिए हर मोबाइल टावर को फाइबर से जोड़ने पर फोकस है. इसके बाद लेटेन्सी 10 मिली सैकंड से घटकर मिली सैकेंड हो जायेगी यानी इंटरनेट स्पीड इतनी तेज होगी कि लाइव प्रसारण मोबाइल या टीवी तक पहुंचने में किसी तरह का कोई अंतर नहीं रहेगा. सब कुछ रियल टाइम होगा.

तेज डेटा नेटवर्क का फ्यूजन 5जी नेटवर्क

• 5जी नेटवर्क इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आइओटी) के सात सबसे तेज डेटा नेटवर्क का फ्यूजन होगा.

• इंटरनेट ऑफ थिंग्स मतलब है चीजों का इंटरनेट. अब तक फेसबुक, वाट्सएप, यूट्यूब के जरिये हम एक-दूसरे से कनेक्ट हैं, लेकिन आइटी के जरिये दूसरी चीजों से भी कनेक्ट हो जायेंगे.

• सामान्य दैनिक जीवनचर्या की जिंदगी में उपयोग किये जाने वाले टीवी, फ्रिज, एसी, लाइट, पंखा, कम्प्यूटर, कार जैसी वस्तुएं हैं, जो एक-दूसरे से डेटा शेयर करेंगे.

• जैसे आपके पास एक कार है और वह इंटरनेट से कनेक्ट है. अगर कार के किसी पार्ट में खराबी आती है, तो कार स्वतः ही मैन्युफैक्चर को केयर का डेटा भेज देगी.

इनपुट : प्रभात खबर

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: