https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-3863356021465505

बिहार के सारण जिले के दरियापुर थाना क्षेत्र में बेहद दर्दनाक हादसा सामने आया है. जिले के सढ़वारा इलाके के एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत हो गई है. जबकि व्यक्ति की हालत बहुत गंभीर है. मरने वालों में पिता-पुत्र और भतीजा शामिल हैं. बताया जा रहा है कि कल (सोमवार) सावन महीने का पहला सोमवार था. घर की महिलाओं ने श्रावणी सोमवार का व्रत किया हुआ था, जिस कारण घर में इस दिन मछली बनाने की मनाही थी.

घर के मुखिया सुभाष राय ने कल बाजार से मछली खरीदकर घर के बाहर अहाते में बनाया था. जिसे घर के चार सदस्यों ने खाया, जिसमें सुभाष राय (50 साल) और इनके दो पुत्रों (बालाजी राय उम्र 18 साल व मिथिलेश राय उम्र 22 साल) और इनका 5 साल का भतीजा विराज राय भी शामिल है.

खाने के कुछ समय बाद देर रात सभी 4 लोगों की तबीयत खराब हुई तो आनन-फानन में सभी को नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में ले जाने के दौरान 2 लोगों की मौत हो गई. बाकी दो लोगों को स्थानीय PHC ले जाया गया. जहां एक और की मौत हो गई. फिलहाल 22 साल के मिथिलेश का इलाज PMCH में चल रहा है जहां उसकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है.

मछली के बचे हुए अंश की होगी फोरेंसिक जांच

एक ही घर में तीन-तीन मौत होने के बाद परिजनों का रोते-रोते बुरा हाल हो गया है. पूरा गांव सकते में है. इस घटना ने MDM की घटना की याद दिला दी, जिसमें 2013 में 23 बच्चों की मौत सब्जी में भूलवश सरसों के तेल की जगह कीटनाशक पड़ गया था. दरियापुर पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए छपरा सदर अस्पताल भेज दिया.

घटना की जानकारी होते ही पूरा प्रशासनिक अमला हरकत में आ गया. सोनपुर ASP अंजनी कुमार, दरियापुर थाना, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गहनता से घटनास्थल का निरीक्षण किया. घर में बनी मछली के बचे हुए अंश को फोरेंसिक जांच के लिए सुरक्षित कर लिया गया.

सारण के पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने प्रेस रिलीज जारी करके पूरी घटना की जानकारी दी. प्रेस रिलीज में बताया गया है कि 26 जुलाई की शाम को सुभाष राय पुत्र शिवनंदन राय, गरीबाचक बाजार से मछली लाए फिर स्वयं सहित अपने दोनों बेटों बालाजी और मिथिलेश सहित अपने भाई के पुत्र विराज के साथ मिलकर मछली खाई.

खाना खाने के बाद रात में ही सबकी तबीयत खराब हो गई. जिसमें सुभाष के 18 साल के पुत्र बालाजी और उनके भाई विजय के 5 साल के पुत्र विराज की घर पर ही मौत हो गई. जबकि सुभाष राय और मिथिलेश को इलाज के लिए दरियापुर PHC ले जाया गया. जहां उनकी गंभीर स्थिति को देखते हुए PMCH रेफर कर दिया गया. PMCH में इलाज के दौरान सुभाष राय की मौत हो गई. जबकि मिथिलेश का इलाज PMCH में चल रहा है.

कीटनाशक थाइमेट भूलवश डाल दिया होगा – SDPO

SDPO सोनपुर ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण कर मछली और चावल के अवशेष के साथ-साथ एक पॉलीथिन में तेज गंध वाला सरसों के दाने की तरह दिखने वाला पदार्थ थाईमेट है. साथ ही जिस कड़ाही में मछली की सब्जी बनाई गई थी, उसे भी जब्त कर लिया गया है. FSL की टीम के द्वारा भी मौके पर निरीक्षण कर तथ्य जुटाया गया है.

घटनास्थल पर पुलिस की पूछताछ में यह पाया गया कि संभवतः मछली बनाने में प्रयोग होने वाले सरसों की जगह सरसों के दाने जैसा दिखने वाला कीटनाशक थाइमेट भूलवश डाल दिया गया, जिससे यह घटना घटित हुई. घटना की जांच जारी है.

इनपुट : आज तक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *